whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

छत्तीसगढ़ में आचार संहिता लागू होने के बाद सख्त हुआ प्रशासन, हटाए गए 3.15 लाख बैनर, पोस्टर और वॉल राइटिंग

Chhattisgarh Election Commission Team: छत्तीसगढ़ में प्रशासन लोकसभा चुनाव को लेकर सख्ती के साथ काम कर रहा है। प्रशासन ने आचार संहिता लागू होने के बाद से प्रदेश में संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत पब्लिक प्लेस और प्राइवेट प्रॉपर्टीज से 3 लाख अधिक बैनर, पोस्टर और वॉल राइटिंग हटाया है।
12:32 PM Mar 21, 2024 IST | Pooja Mishra
छत्तीसगढ़ में आचार संहिता लागू होने के बाद सख्त हुआ प्रशासन  हटाए गए 3 15 लाख बैनर  पोस्टर और वॉल राइटिंग
छत्तीसगढ़ के चुनाव आयोग की टीम

Chhattisgarh Election Commission Team: छत्तीसगढ़ में प्रशासन लोकसभा चुनाव को लेकर जोर-शोर के साथ काम लगे हुए है। प्रदेश के निर्वाचन आयोग की टीम ने आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद से संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत पब्लिक प्लेस और प्राइवेट प्रॉपर्टीज से वॉल राइटिंग, पोस्टर और बैनर हटाने की कार्यवाही को तेजी के साथ किया जा रहा है। अब तक प्रदेश में इन दोनों तरह की संपत्तियों से कुल 3,14,674 प्रचार सामग्रियां हटाई गई हैं। इसमें से सार्वजनिक संपत्तियों से 1,99,154 और प्राइवेट प्रॉपर्टीज से 1,15,520 प्रचार सामग्रियां हटाया गया है।

निर्वाचन पदाधिकारी ने दी जानकारी

छत्तीसगढ़ की मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना बाबासाहेब कंगाले ने बताया कि राज्य के सभी जिला कलेक्टरों और जिला निर्वाचन अधिकारियों की तरफ से संपत्ति विरूपण अधिनियम के तहत पूरे राज्य में कुल 3 लाख 27 हजार 210 मामले मार्क किए गए हैं। इसमें से 2 लाख 9 हजार 45 मामले सार्वजनिक स्थानों के हैं और 1 लाख 18 हजार 165 मामले प्राइवेट प्रोपर्टीज से जुड़े हैं। इन सभी प्रकरणों को हटाने की कार्यवाही पर जिला प्रशासन द्वारा तेजी से काम जारी है।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ CM विष्णुदेव साय ने दंतेवाड़ा में भरी हुंकार, कांग्रेस को बताया डूबती नैया

दुर्ग जिले में सबसे ज्यादा मामले 

निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, सबसे ज्यादा दुर्ग जिले में सरकारी और निजी संपत्तियों पर से पोस्टर, बैनर, वॉल राइटिंग जैसी सामग्री को हटाया गया है। अकेले दुर्ग जिले में प्रशासन ने 41,788 सामग्रियों को हटाया है। वहीं गरियाबंद में 5,784, सुकमा में 2,048, मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर में 2,931, खैरागढ़-छुईखदान-गण्डई में 2,819, जशपुर में 4,425, बेमेतरा में 8,928, बालोद में 16,973, बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में कुल 8,935, सूरजपुर में 3,942, जांजगीर-चांपा में 8,531, बिलासपुर में 27,881, सारंगगढ़-बिलाईगढ़ में 5,774 और सरगुजा में 9,876 मामलों पर कार्यवाही की गई है।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो