whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

Mahadev Satta App के जाल में फंसे कारोबारी ने सुसाइड किया, आखिरी खत में ऑपरेटर पर लगाए आरोप

Mahadev Satta App User Businessman Suicide: महादेव सट्टा ऐप के जाल में फंसकर एक कारोबारी ने सुसाइड कर ली है। उसने सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें उसने पैसे नहीं देने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की।
11:57 AM May 13, 2024 IST | Khushbu Goyal
mahadev satta app के जाल में फंसे कारोबारी ने सुसाइड किया  आखिरी खत में ऑपरेटर पर लगाए आरोप
Chhattisgarh Businessman Committed Suicide

Mahadev Satta App User Committed Suicide: महादेव ऑनलाइन सट्टा ऐप इस्तेमाल करने वाले कारोबारी ने सुसाइड कर लिया है। छत्तीसगढ़ में रायपुर के कारोबारी संदीप बग्गा ने कीटनाशक पीकर खुदकुशी की। संदीप बग्गा ने सुसाइड नोट भी छोड़ा है। सुसाइड नोट में महादेव सट्टा के पैनल ऑपरेटर नीतीश मित्तल से लेनदेन का जिक्र किया गया है। सिविल लाइन थाना पुलिस ने आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में केस दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें:‘वीडियो कॉल पर कपड़े उतरवाता, मां पर गंदी नजर डाली’; युवती ने सुनाई प्रज्वल रेवन्ना की हैवानियत की कहानी

सुसाइड नोट में संदीप ने क्या लिखा?

बता दें कि संदीप बग्गा ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। इस सुसाइड नोट में उसने 10 से 15 लाख के लेन-देन का जिक्र किया। संदीप ने लिखा है कि उसने पैसे लगाए थे और 10-15 लाख का बकाया था, जिसे देने से ऑपरेटर टाल मटोल कर रहा था। विरोध करने पर उसने जान से मारने की धमकी दी। तंग आकर वह अपनी जान देने को मजबूर है। उसे काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। पुलिस वालों से अपील है कि वे आरोपियों के खिलाफ उचित कार्रवाई करें।

यह भी पढ़ें:जयपुर के 12 स्कूलों में बम ब्लास्ट की धमकी, ईमेल मिलने से मचा हड़कंप, डॉग-बम क्वाड का सर्च ऑपरेशन

महादेव सट्टा ऐप केस में SEBI की एंट्री

बता दें कि महादेव सट्टा ऐप केस में अब सेबी की एंट्री भी हो गई है। ED ने 2020 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की है। इसमें खुलासा किया गया है। सौरभ चंद्राकर, रवि उप्पल और शुभम सोनी ने सट्टा लगाकर कमाया गया पैसा शेयर मार्केट में इनवेस्ट किया। करीब एक हजार करोड़ का निवेश हुआ है। भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) इस मामले की जांच करेगा। हरिशंकर टिबरेवाल ऐप के प्रमोटर हैं, जिनके साथ मिलकर अलग-अलग कंपनियां बनाकर पैसा शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कराया गया। पूरे मामले की जांच के निर्देश सेबी को दे दिए गए हैं। जांच रिपोर्ट जल्द से जल्द सौंपने के आदेश हैं।

यह भी पढ़ें:Jaunpur Murder: यूपी में दिनदहाड़े पत्रकार की गोली मारकर हत्या, दहशत में लोग

क्या है मामला और क्या हो चुकी कार्रवाई?

बता दें कि महादेव ऐप ऑनलाइन सट्टा कार्ड और पोकर जैसी गेम के जरिए खेलने का मौका देती है। यूजर्स क्रिकेट, बैडमिंटन, टेनिस, फुटबॉल मैचों पर बैटिंग करते हैं। ऐप 2019 में सौरभ चंद्राकर और उसके दोस्त इंजीनियर रवि उप्पल ने बनाई थी। 2017 में सौरभ और रवि ने एक वेबसाइट भी बनाई थी, लेकिन ऐप से उन्हें फायदा हुआ। करोड़ों का सट्टा लगवाया गया। ऐप से लाखों ग्राहक जुड़े और छत्तीसगढ़ से ज्यादातर ग्राहक थे। सौरभ की शादी में सट्टा ऐप का खुलासा हुआ। बॉलीवुड के कई सेलिब्रिट मामले में फंसे। कार्रवाई करते हुए ED करीब 1300 करोड़ की प्रॉपर्टी अटैच कर चुकी है। 19 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। 30 से ज्यादा लोग फरार चल रहे हैं।

यह भी पढ़ें:मौत आंखों के सामने थी और…नोएडा में लिफ्ट के ब्रेक फेल होने से हादसा, सोसायटी के लोग भड़के

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो