whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

Madhya Pradesh: स्कूल में टीचर ने स्टाफ पर तानी पिस्तौल, हो गया सस्पेंड

Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश के खरगोन में एक टीचर को गुस्सा महंगा पड़ गया। उसने गुस्से में आकर शिक्षकों और शिक्षा अधिकारी पर पिस्तौल तान दी। यहां तक कि बीईओ कार्यालय पहुंचकर सबको धमकाने लगा। नतीजतन उसे सस्पेंड कर दिया गया। जानिए क्या है पूरा मामला।
02:32 PM Mar 09, 2024 IST | Prerna Joshi
madhya pradesh  स्कूल में टीचर ने स्टाफ पर तानी पिस्तौल  हो गया सस्पेंड
Madhya Pradesh Khargone Teacher Suspended

Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश के खरगोन से चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जहां एक स्कूल में टीचर ने ही पिस्तौल निकालकर शिक्षकों और शिक्षा अधिकारी को धमकाने की कोशिश की। जानिए क्या है पूरा मामला।

दरअसल, मध्य प्रदेश के खरगोन जिले के सीएम राइज स्कूल में एक टीचर को जब नोटिस मिला तो वह खुद को संभाल नहीं पाया और गुस्से में स्कूल के अंदर ही पिस्तौल निकालकर बाकी शिक्षक पर ही तान दी। उसका गुस्सा यहां नहीं थमा, उसके बाद वह बीईओ कार्यालय पहुंचा और पिस्तौल निकालकर धमकाने लगा।

यह भी पढ़ें: ‘कुछ तो बात होगी कि हम बेवफा हुए…’, बीजेपी में शामिल होने के बाद बोले सुरेश पचौरी

क्या है पूरा मामला?

सीएम राइज स्कूल के शिक्षक पराग सांवले पर आरोप था की वह अक्सर स्कूल शराब के नशे में आते थे। जब इस मामले को लेकर विकासखंड कार्यालय से नोटिस भेजा गया तो उन्होंने इसे लेने से इंकार कर दिया और शिक्षकों व शिक्षा अधिकारी को पिस्तौल दिखाकर धमकाने की कोशिश की। इस मामले पर सहायक आयुक्त प्रशांत आर्य ने संज्ञान लिया और सीएम राइज स्कूल के टीचर पराग सांवले को सस्पेंड कर दिया।

कर्मचारियों का कहना है कि ज्यादातर कर्मचारी शिक्षक पराग सांवले से डरते थे। जब गुरुवार को कर्मचारी उन्हें नोटिस देने पहुंचा तो वह गुस्से से भर गए और पिस्तौल निकाल ली। इसे देख स्कूल के सभी कर्मचारी डर गए।

यह भी पढ़ें: सुरेश पचौरी कौन हैं, जिन्होंने कांग्रेस के 10 नेताओं के साथ थामा बीजेपी का दामन

नोटिस भेजा तो डराया और धमकाया

विकासखंड शिक्षा अधिकारी सेगांव संदीप कापरनीस ने जानकारी दी कि 7 मार्च को सीएम राइज सेगांव में प्राथमिक शिक्षक के रूप में काम कर रहे पराग सांवले को आदिवासी विकास विभाग सहायक आयुक्त ने सस्पेंड किया है। सांवले पर आरोप था कि वह शराब पीकर स्कूल आते थे। इस वजह से उन्हें विकासखंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय से पत्र जारी किया गया तो उन्होंने इसे लेने से मना कर दिया। इस वजह से उन्होंने सीएम राइज स्कूल और वीडियो कार्यालय में पिस्तौल दिखाकर डराया और धमकाया।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो