whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

राहु-केतु के प्रभाव से हो जाते हैं बॉस के साथ रिश्ते खराब, नहीं मिलता है प्रमोशन

Job Astrology: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, हर व्यक्ति का उनका स्वामी ग्रह भी होते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार, इन राशियों के जातकों पर ग्रहों का प्रभाव पड़ता है जिससे व्यक्ति के स्वभाव, गुण और व्यक्तित्व में असर दिखाई देता है।
02:14 PM May 17, 2024 IST | Raghvendra Tiwari
राहु केतु के प्रभाव से हो जाते हैं बॉस के साथ रिश्ते खराब  नहीं मिलता है प्रमोशन

Job Astrology: आज के समय में हर व्यक्ति अपनी जीविका चलाने के लिए कारोबार और जॉब करते हैं। कारोबार करने वाले व्यक्ति एक तरह से स्वतंत्र होते हैं, लेकिन जो लोग जॉब करते हैं उन्हें कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उन्हें हर समय बॉस का डांट सुनने को मिल ही जाती है। यदि आप भी जॉब करते हैं और आपके भी बॉस आप पर हर समय गुस्सा करते रहते हैं।

ऐसे में आपको घबराने की कोई बात नहीं है। क्योंकि ज्योतिष शास्त्र में सभी परेशानियों का हल बताया गया है। तो आज इस खबर में जानेंगे किन-किन कारणों से आप पर बॉस हमेशा गुस्सा करते हैं या चिल्लाते रहते हैं।

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कुंडली देखकर किसी भी व्यक्ति का स्वभाव और व्यक्तित्व का पता लगाया जा सकता है। बता दें कि कुंडली का दसवां भाव मान-सम्मान और पद-प्रतिष्ठा का होता है। इस भाव  से आप अपने बॉस का भी स्वभाव का पता लगा सकते हैं।

कैसे पता करें बॉस का स्वभाव

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, यदि आपकी कुंडली के दसवें भाव में शुभ ग्रह की राशि धनु, मीन और कर्क होती है तो आपका बॉस अच्छा मिल सकता है। लेकिन वहीं जब दसवें भाव में क्रूर राशि जैसे मेष, मकर, सिंह और वृश्चिक राशि है तो ऐसे में बॉस गुस्सैल , एंग्री या हर समय अपना दबदबा बनाकर रखने वाला हो सकता है।

लेकिन वहीं दसवें भाव में शुक्र की राशियां होती हैं तो जो आपके बॉस तारीफ सुनने के शौकीन होते हैं। वहीं जिन लोगों की कुंडली के दसवें भाव में बुध की राशियां होती है तो उनके बॉस होशियार होते हैं लेकिन थोड़े डरपोक भी होते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार, यदि कुंडली के दसवें भाव में क्रूर ग्रह हैं तो हमेशा बॉस के साथ हमेशा मनमुटाव की स्थिति बनी रहती है। लेकिन वहीं जब शुभ ग्रह होते हैं तो ताममेल की स्थिति बनी रहती है।

कैसे करें बॉस को प्रभावित

वैदिक ज्योतिष शास्त्र में सूर्य देव को मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा और यश का कारक ग्रह माना गया है साथ ही सौरमंडल पर सूर्य ग्रह को सौरमंडल का अधिपति भी माना गया है। ऐसे में जो ऑफिस में बॉस का पद होता है वह सूर्य की तरह ही है। ऐसे में आपको कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत करनी चाहिए। यदि कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत रहती है तो नौकरी, समाज, मान-सम्मान और पद -प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होती है।

कब गुस्सा करते हैं बॉस

ज्योतिषियों के अनुसार, जब कुंडली में छाया ग्रह राहु और केतु का अशुभ प्रभाव रहता है तो बॉस के साथ रिश्ते खराब होने लगते हैं। आपको हर समय बॉस के गुस्से का शिकार होना पड़ता है। साथ ही तरक्की में बाधा आने लगती है।

यह भी पढ़ें- Vaishakh Purnima के दिन करें मात्र एक चमत्कारी उपाय, सभी समस्याओं से मिल जाएगी मुक्ति

यह भी पढ़ें- मई में बुध एक बार और करेंगे राशि परिवर्तन, 5 राशियों के जीवन में होगी हलचल

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष शास्त्र की मान्यताओं पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। 

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो