whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

Vipreet Rajyog: ग्रहों के राजा सूर्य ने बनाया "विपरीत राजयोग", अब 3 राशियों की लगेगी नई नौकरी

Vipreet Rajyog: वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस समय वृषभ राशि में सूर्य देव और देवगुरु बृहस्पति विराजमान हैं। साथ ही शुक्र देव अस्त अवस्था में मौजूद है। इन ग्रहों के एक साथ मिलने से वृषभ राशि में विपरीत राजयोग का निर्माण हुआ है। अगले 4 दिन तक कुछ राशियों को लाभ ही लाभ होगा। तो आइए उन राशियों के बारे में विस्तार से जानते हैं।
12:35 PM May 16, 2024 IST | Raghvendra Tiwari
vipreet rajyog  ग्रहों के राजा सूर्य ने बनाया  विपरीत राजयोग   अब 3 राशियों की लगेगी नई नौकरी

Vipreet Rajyog: पूरे ब्रह्मांड में कुल ग्रहों की संख्या 9 है। नवग्रहों की अपना-अपना महत्व होता है। बता दें कि इस माह यानी मई में सबसे ज्यादा वृषभ राशि में ग्रहों का हलचल हुआ है। अब तक वृषभ राशि में देवगुरु बृहस्पति और ग्रहों के राजा सूर्य देव (Surya Dev) गोचर (Gochar) कर चुके हैं। ज्योतिषियों के अनुसार, देवगुरु बृहस्पति (Devguru Brihaspati) का विपरीत राजयोग बहुत ही शुभ और महत्वपूर्ण माना जाता है। इस योग को बनने से पृथ्वी पर मौजूद सभी प्राणियों पर कुछ न कुछ प्रभाव जरूर पड़ता है। ज्योतिषियों के अनुसार, इस समय वृषभ राशि में विपरीत राजयोग का निर्माण हो गया है। जिससे कुछ राशियों को अगले कुछ दिनों तक लाभ ही लाभ मिलेगा। तो आज इस खबर में जानने वाले हैं कि विपरीत राजयोग बनता है कैसे हैं और इसका प्रभाव किन-किन राशियों पर पड़ने वाला है।

कैसे बनता है विपरीत राजयोग

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, विपरीत राजयोग (Vipreet Rajyog) देवगुरु बृहस्पति बनाते हैं। जब बृहस्पति तीसरे, छठे और आठवें भाव भाव में आ जाते हैं तो विपरीत राजयोग बनता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, 14 मई को सूर्य वृषभ राशि में प्रवेश किया है। जहां पहले से देवगुरु बृहस्पति मौजूद है।

बता दें कि वृषभ राशि में शुक्र भी अस्त अवस्था में मौजूद है। ऐसे में वृषभ राशि में विपरीत राजयोग बन गया है। ज्योतिषियों के अनुसार, यह राजयोग अगले 4 दिन यानी 19 मई को खत्म भी हो जाएगा। ऐसे में 4 दिन कुछ राशियों के लिए बेहद शुभ और लाभदायक रहने वाला है।

तीन राशियों को मिलेगा विपरीत राजयोग का लाभ

कर्क राशि (Kark Zodiac)

कर्क राशि वाले लोगों के लिए विपरीत राजयोग बहुत ही शुभ रहने वाला है। क्योंकि विपरीत राजयोग छठे भाव का स्वामी गुरु बृहस्पति, सूर्य के साथ ग्यारहवें भाव में अस्त हैं। वहीं कर्क राशि वाले लोगों पर शनि का केंद्रीय प्रभाव और केतु की नजर है।

kark rashi

विपरीत राजयोग के प्रभाव से कर्क राशि वाले लोगों के जीवन में खुशहाली आ सकती है। विदेश यात्रा करने का मौका मिल सकता है। अचानक कारोबार में वृद्धि हो सकती है। आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। धन-धान्य में वृद्धि होगी। भाग्य का साथ मिलेगा। वैवाहिक जीवन में खुशियां बनी रहेंगी।

तुला राशि (Tula Zodiac)

तुला राशि वाले लोगों के लिए विपरीत राजयोग अनुकूल साबित होगा। क्योंकि तुला राशि में गुरु बृहस्पति तीसरे, छठे भाव के स्वामी बन कर बैठे हैं। साथ ही आठवें भाव में सूर्य के साथ बैठे हुए हैं।

Tula Zodiac

ज्योतिषियों के अनुसार, विपरीत राजयोग से तुला राशि वाले लोगों के जीवन में खुशहाली बनी रहेंगी। साथ ही उनके लिए लाभकारी भी सिद्ध हो सकता है। जो लोग लंबे समय से परेशान हैं उनको सारी परेशानियों से छुटकारा भी मिल सकता है। कारोबारियों के लिए यह 4 दिन बहुत ही लाभदायक रहेगा। साथ ही कारोबार में डबल का मुनाफा भी हो सकता है।

मीन राशि (Meen Zodiac)

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मीन राशि वाले लोगों के लिए विपरीत राजयोग किसी वरदान से कम नहीं साबित हो सकता है। क्योंकि मीन राशि को इस समय बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा होगा। ऐसे में मीन राशि के स्वामी अपनी ही राशि से तीसरे और सूर्य ग्रह से अस्त हैं।

Meen rashi

ज्योतिषियों के अनुसार, मीन राशि वाले लोगों पर विपरीत राजयोग का अशुभ प्रभाव नहीं पड़ेगा, बल्कि सूर्य और गुरु बृहस्पति का आशीर्वाद मिलेगा। मीन राशि वाले लोगों को भाग्य का साथ मिलेगा। रुके हुए कार्य पूरे होंगे।

यह भी पढ़ें-  मोहिनी एकादशी पर तीन ग्रहों का होगा मिलन, 7 राशियों की बदल जाएगी किस्मत

यह भी पढ़ें- 368 दिन राहु 3 राशियों पर बरसाएंगे कृपा, धन-दौलत के साथ करियर में होगी वृद्धि

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष शास्त्र की मान्यताओं पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। 

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो