whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

बिहार की चार सीटों पर मतदान आज, औरंगाबाद-गया-जुमई-नवादा का क्या है नया चुनावी समीकरण

Bihar First Phase Voting Updates 2024 : देश में लोकसभा चुनाव सात चरणों में होगा। पहले चरण के लिए आज मतदान होगा। इसे लेकर चुनाव आयोग ने सारी तैयारी कर ली है। सुबह 8 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक वोटिंग होगी। आइए बिहार की उन चार सीटों के बारे में जानते हैं, जहां पहले चरण में वोट डाले जाएंगे।
12:02 AM Apr 19, 2024 IST | Deepak Pandey
बिहार की चार सीटों पर मतदान आज  औरंगाबाद गया जुमई नवादा का क्या है नया चुनावी समीकरण
Bihar Frist Phase Voting Updates 2024

Bihar First Phase Voting Updates 2024 : देश में लोकसभा चुनाव के पहले चरण में जनता 19 अप्रैल को अपने मनपसंद उम्मीदवारों के लिए वोट डालेंगे। मतदाताओं का वोट किधर जाएगा, इसे लेकर प्रत्याशी सिर्फ अनुमान ही लगा रहे हैं। बिहार की चार सीटों औरंगाबाद, गया, नवादा और जमुई के उम्मीदवारों की किस्मत शुक्रवार को ईवीएम में कैद हो जाएगी। आइए जानते हैं चारों सीटों का क्या है नया चुनावी समीकरण?

औरंगाबाद सीट पर नया बनेगा इतिहास या फिर चौथी बार होगी जीत

औरंगाबाद लोकसभा सीट पर एक बार फिर सुशील कुमार सिंह भाजपा से चुनाव लड़ रहे हैं। उनका मुकाबला आरजेडी के उम्मीदवार अभय कुशवाहा से है। अगर इस सीट पर जातीय समीकरण की बात करें तो राजपूत वोटर 2 लाख हैं, जबकि यादव एवं कुशवाहा मतदाता 2.5-2.5 लाख, मुस्लिम 1.5 लाख और भूमिहार वोटर 1 लाख हैं। सुशील कुमार सिंह इस सीट से चौथी बार चुनाव लड़ रहे हैं। 2009 में उन्होंने जेडीयू से चुनाव लड़कर जीत हासिल की थी। इसके बाद 2014-2019 में वे भाजपा से सांसद बने।

यह भी पढ़ें : ‘200 के पार नहीं पहुंच पाएगा NDA’, मंथन 2024 में और क्या-क्या बोले शत्रुघ्न सिन्हा

गया में हार की हैट्रिक लगेगी या फिर जीत का बनेगा रिकॉर्ड

बिहार की हाई प्रोफाइल सीट में शुमार गया सीट पर पूर्व सीएम और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के उम्मीदवार जीतन राम मांझी चुनावी मैदान में हैं, जबकि दूसरी ओर बिहार के पूर्व मंत्री और आरजेडी उम्मीदवार कुमार सर्वजीत ताल ठोंक रहे हैं। एनडीए गठबंधन के तहत हम के खाते में गया सीट आई है। हालांकि, 2014 में जदयू के टिकट और 2019 में हम प्रत्याशी के रूप में जीतन राम मांझी से इस सीट चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन उन्हें दोनों बार हार का सामना करना पड़ा था। पिछले चुनाव में जदयू के विजय मांझी ने जीत हासिल की थी। 2019 में हम महागठबंधन का हिस्सा था। वहीं, इंडिया गठबंधन के संयुक्त उम्मीदवार कुमार सर्वजीत पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं।

सीटNDAINDIAअन्‍य2019 में कौन जीता
औरंगाबादसुशील कुमार सिंहअभय कुशवाहा-सुशील कुमार सिंह
गयाजीतन राम मांझीकुमार सर्वजीत-विजय मांझी
जमुईअरुण भारतीअर्चना रविदास-चिराग पासवान
नवादाविवेक ठाकुरश्रवण कुमारविनोद यादवचंदन सिंह

जमुई सीट पर नया अनुभव

एनडीए गठबंधन के तहत चिराग पासवान की पार्टी लोजपा के खाते में जमुई सीट आई है। इस बार लोजपा ने इस सीट से अरुण भारती को चुनावी मैदान में उतारा है, जोकि चिराग पासवान के बहनोई हैं। इंडिया गठबंधन के तहत राजद से अर्चना रविदास इस सीट से चुनाव लड़ रही हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि दोनों ही उम्मीदवारों के लिए यह पहला चुनाव है। 2014 और 2019 चुनावों में चिराग पासवान जमुई सीट से सांसद रहे। इस बार वे हाजीपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

यह भी पढ़ें : विदेश में दो अपार्टमेंट… 5.7 करोड़ का सोना, 1,400 करोड़ की मालकिन हैं बीजेपी उम्मीदवार

नवादा सीट पर निर्दलीय ने बढ़ाई मुसीबत

नवादा सीट पर इंडिया गठबंधन के लिए निर्दलीय उम्मीदवार सबसे बड़ी चुनौती है। पिछले चुनाव 2019 में लोजपा से बाहुबली सूरजभान के भाई चंदन सिंह ने जीत हासिल की थी, लेकिन इस बार भाजपा ने लोजपा से यह सीट ले ली। 2014 में भाजपा से गिरिराज सिंह इस सीट से सांसद बने थे। दोनों बार राजद के उम्मीदवार दूसरे नंबर थे। पिछली बार आरजेडी से विभा देवी और 2014 में उनके पति राजबल्लभ प्रसाद ने चुनाव लड़ा था। इस बार बीजेपी से विवेक ठाकुर और आरजेडी से श्रवण कुमार आमने-सामने हैं। आरजेडी से टिकट न मिलने से नाराज विनोद यादव ने निर्दलीय ताल ठोंक दिया है, जो पूर्व विधायक राजबल्लभ प्रसाद के छोटे भाई और नवादा की वर्तमान विधायक विभा देवी के देवर हैं।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो