whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

हे भगवान! इतना क्रूर बाप...बेटी को दी प्यार करने की खौफनाक सजा, दम तोड़ने तक पास बैठा देखता रहा

Father Murdered Daughter: बिहार में एक शख्स ने बेटी का गला रेत दिया। पास बैठकर उसे दम तोड़ते हुए देखता रहा। सांसें अटकी तो पेट में चाकू घोंप दिया, लेकिन एक पिता ने अपने जिगर के टुकड़े को इतनी खौफनाक मौत क्यों दी, आइए जानते हैं...
08:01 AM Jun 18, 2024 IST | Khushbu Goyal
हे भगवान  इतना क्रूर बाप   बेटी को दी प्यार करने की खौफनाक सजा  दम तोड़ने तक पास बैठा देखता रहा
सुनसान खेतों में ले जाकर बेटी को मौत के घाट उतारा।

Honour Killing in Bihar: एक शख्स ने अपनी इज्जत बचाने के लिए पेपर कटर से अपनी ही बेटी की गर्दन काट दी। इतना ही नहीं, जब उसकी उखड़ती सांसें अटक गईं तो पेट में चाकू घोंप दिया। इसके बाद उसने मरता देखने के लिए पास में बैठ गया। जब उसने दम तोड़ दिया तो उठकर चला गया और पड़ोसियों से बोला कि उसने बेटी को उसके किए की सजा दे दी। किसी अनहोनी की आशंका से पड़ोसियों ने पुलिस को बुलाया। पुलिस को खेत से लड़की की लाश मिली, जिसे कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया।

यह भी पढ़ें:एयर इंडिया के खाने में ब्लेड मिला, पैसेंजरों ने खूब बवाल काटा, एयरलाइन को मांगनी पड़ी माफी

CCTV फुटेज से सुराग मिला, ट्रेस करके दबोचा हत्यारोपी

DCP गुरइकबाल सिंह सिद्धू ने हत्याकांड की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि रविवार रात करीब 9 बजे की घटना है। सोमवार शाम को आरोपी पिता को दबोच लिया गया। चांदपुर रोड के पास एक खेत में लड़की का शव मिला। उसकी गर्दन पर और पेट में गहरी चोटें थीं। FIR दर्ज करके इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह और धर्मेंद्र को हत्यारोपी को पकड़ने की जिम्मेदारी सौंपी गई, जिन्होंने 24 घंटे के अंदर हत्यारोपी को पकड़ लिया। वह CCTV फुटेज में एक कैब में जाता दिखा। पड़ोसी ने उसकी शिनाख्त की और कैब को ट्रेस करके हत्यारोपी को पकड़ा।

यह भी पढ़ें:कुत्ते के काटने से टाइगर की मौत, डिप्रेशन में मालिक ने दम तोड़ा; पढ़ें दिल के रिश्ते की इमोशनल कहानी

हत्यारोपी बाप ने कबूला अपना गुनाह

DCP गुरइकबाल सिंह सिद्धू ने बताया कि आरोपी ने अपना गुनाह कबूल लिया है। वह बिहार के मुजफ्फरपुर का रहने वाला है। हत्यारोपी ने बताया कि उसकी बेटी एक युवक से प्यार करती थी। दोनों एक ही उम्र के थे और एक ही मोहल्ले में रहते थे। लड़की 12वीं की छात्रा था। स्कूल आते-जाते समय दोनों की मुलाकात होती थी, लेकिन उनकी दोस्ती हत्यारोपी पिता को पसंद नहीं थी, क्योंकि दोनों अलग-अलग जाति से थे। लड़की का परिवार नाई जाति से था, जबकि लड़का मल्लाह समुदाय से था। विरोध के बावजूद दोनों ने दोस्ती नहीं तोड़ी।

यह भी पढ़ें:एक अर्थी पर पति-पत्नी की लाशें; माता के जगराते में जा रहे थे, जानें कैसे बन गया जिंदगी का आखिरी सफर?

हत्यारोपी पिता ने बेटी को दिल्ली भेज दिया, ताकि वह लड़के से दूर रहे और समाज में परिवार की प्रतिष्ठा खराब न हो। लड़की के पिता का दिल्ली में बिजनेस था। 20 साल की लड़की अपने भाई के साथ उत्तर पश्चिमी दिल्ली के प्रेम नगर में रहने लगी, लेकिन फोन पर शुभम के संपर्क में रही। भाई ने इस बारे में लड़की से बात की, लेकिन वह नहीं मानी तो उसने पिता को बताया। माता-पिता और भाई तीनों ने उसे समझाने की कोशिश की, लेकिन वह लड़के से मिलने और उससे बात करने की जिद करती रही, जबकि परिवार इसके खिलाफ था।

पेपर कटर से लड़की का गला काटा

DCP के अनुसार, हत्यारोपी पिता ने बताया कि लड़की ने अपने प्रेमी को छोड़ने से साफ इनकार कर दिया। वह उससे शादी करने की बात पर अड़ गई। काफी समझाने के बाद भी जब लड़के के फोन, ऑडियो-वीडियो मैसेज आते रहे तो उन्होंने बेटी को मारने का फैसला ले लिया। रविवार शाम को उन्होंने उत्तर पश्चिमी दिल्ली के कंझावला में एक सुनसान जगह की तलाश की। बेटी को अकेले में समझाने के लिए बुलाया, यह सोचकर कि वह अपना मन बदल लेगी, लेकिन जब वह नहीं मानी तो उन्होनें पेपर कटर से उसका गला काट दिया। जैसे ही उसकी सांसें उखड़ने लगीं, उसने उसके पेट में और चीरे लगा दिए। फिर वह वहीं बैठ गया और उसे मरते हुए देखा। जब उसने प्रतिक्रिया देना बंद कर दिया और काफी खून बह गया तो वह उठा और वहां से चला गया।

यह भी पढ़ें:Video: दे थप्पड़…दे कंटाप…दे झापड़…प्रेमी जोड़े ने नदी में छलांग लगाई, मछुआरों ने जान बचाकर पीटा

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो