whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

बंगाल की शराब कंपनी से क्या है Tejashwi Yadav का कनेक्शन? JDU ने RJD पर किया चौंकाने वाला दावा

JDU Allegations on RJD Electoral Bonds: बिहार लोकसभा चुनाव के दौरान पक्ष और विपक्ष में वार-पलटवार का सिलसिला तेज हो गया है। इस दौरान जेडीयू नेता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके आरजेडी पर बड़ा आरोप लगाया है। जेडीयू नेता ने बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से भी दो टूक सवाल पूछा है।
02:21 PM Apr 24, 2024 IST | Sakshi Pandey
बंगाल की शराब कंपनी से क्या है tejashwi yadav का कनेक्शन  jdu ने rjd पर किया चौंकाने वाला दावा

JDU Allegations on RJD Electoral Bonds: (अमिताभ ओझा, पटना) लोकसभा चुनाव के दौरान पक्ष और विपक्ष में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है। मगर इसी बीच बिहार के सियासी गलियारों से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। नीतीश कुमार की जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) पर बड़ा आरोप लगाया है।

जेडीयू का आरोप

जेडीयू प्रदेश कार्यालय में मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार और राजीव रंजन ने प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान जेडीयू के राष्ट्रीय सचिव राजीव रंजन के साथ नीरज कुमार ने इलेक्ट्रोल बॉन्ड पर खुलासा किया। उन्होंने कहा कि बिहार के अंदर पूर्ण शराबबंदी है, लेकिन तेजस्वी यादव के पिता लालू यादव शराब कंपनियों से करोड़ो का चंदा लेते है। जुलाई 2023 से जनवरी 2024 तक राजद को कुल 70 करोड़ रुपए का इलेक्ट्रोल बॉन्ड मिला था। राजद ने 46 करोड़ 64 लाख रुपए शराब कंपनियों से इलेक्ट्रोल बॉन्ड के रूप में चंदा लिया। तेजस्वी यादव की शराब व्यपारियों से क्या डील हुई थी? यह तेजस्वी को बताना चाहिए । ये शराब की कंपनी बंगाल की थी जिनसे राजद को करोड़ो का एलेक्ट्रोरेल बांड मिला था।

तेजस्वी यादव की लुका छिपी

नीरज कुमार और राजीव रंजन ने बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि तेजस्वी यादव शराब कंपनियों के साथ लुकाछिपी का खेल खेल रहे थे। अब तेजस्वी बताएं कि शराब कंपनियों से उनकी कितने की डील हुई थी? जिस शराब कंपनी का प्रॉफिट 2023-24 में 13.78 करोड़ है। उसने राजद को 46 करोड़ चंदा दिया है।

जेडीयू को कितना मिला चंदा?

शराबबंदी कानून मानव सूचकांक को बेहतर बनाने के लिए बनाया गया है। लेकिन तेजस्वी यादव ने महिला और युवाओं के हितों की अनदेखी करते हुए शराब कंपनियों से चंदा लिया। राजीव रंजन ने कहा कि 12 अप्रैल 2019 से जनवरी 2024 तक जेडीयू को केवल 14 करोड़ इलेक्ट्रोल बॉन्ड के रूप में मिले, तेजस्वी बताएं कि आखिर शराब कंपनियों ने उन्हें यह चंदा क्यों दिया, नहीं तो इस मामले में आगे और खुलासे जदयू की ओर से किए जायेंगे।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो