whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

लालू यादव की राह पर चल पड़े बाहुबली, पत्नियों को बनाया उम्मीदवार, जानें कौन-कौन हैं चुनावी मैदान में

Lok Sabha Election 2024 : देश में नेता या बाहुबली सभी लोग सत्ता का सुख भोगना चाहते हैं। उनके पास ही सत्ता की कमान रहे, इसके लिए वे अपनी पत्नी को चुनावी मैदान में उतार रहे हैं। बिहार में बाहुबली भले की चुनाव नहीं लड़ सकते हैं, लेकिन उन्होंने अपनी पत्नियों को चुनावी मैदान में उतार दिया है।
07:49 PM Mar 29, 2024 IST | Deepak Pandey
लालू यादव की राह पर चल पड़े बाहुबली  पत्नियों को बनाया उम्मीदवार  जानें कौन कौन हैं चुनावी मैदान में
बिहार में बाहुबलियों की पत्नियों के पास है चुनावी कमान।

Lok Sabha Election 2024 : देश में लोकसभा चुनाव 2024 का बिगुल बज गया है। राजनीतिक दलों ने चुनाव में अपनी ताकत झोंक दी है। जिस तरह कभी लालू प्रसाद यादव ने अपनी पत्नी को बिहार की कमान सौंपी थी, ठीक उसी तरह भय और डर की राजनीति करने वाले बाहुबलियों ने अपने इलाकों की राजनीति पर पकड़ मजबूत रखने के लिए अपनी पत्नियों को उम्मीदवार बनाया है। आइए जानते हैं कि बिहार में किन बाहुबलियों की पत्नियां चुनावी मैदान में खड़ी हैं?

आनंद मोहन की पत्नी शिवहर से लड़ रहीं चुनाव

बाहुबली डॉन से नेता बने आनंद मोहन बिहार की राजनीति में बड़ा नाम है। वे 1999 और 1998 में शिवहर से सांसद रह चुके हैं। गोपालकांड के जिलाधिकारी जी कृष्णैया के हत्याकांड में 16 साल की सजा काट चुके आनंद मोहन पिछले साल जेल से बाहर आए थे। आनंद मोहन भले की चुनाव नहीं लड़ सकते हैं, लेकिन जदयू के टिकट पर उनकी पत्नी लवली आनंद शिवहर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रही हैं।

यह भी पढ़ें : लोकसभा चुनाव से पहले विपक्ष को बड़ा झटका, 80 हजार नेता-कार्यकर्ता हुए भगवाधारी

पूर्णिया से चुनावी मैदान में हैं अवधेश मंडल की पत्नी

अवधेश मंडल बिहार के पूर्णिया इलाके के दंबग और बाहुबली माने जाते हैं। उन पर हत्या और अपहरण समेत 12 से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। उनकी पत्नी बीमा भारती पांच बार विधायक और मंत्री रह चुकी हैं। राजद की ओर से बीमा भारती पूर्णिया लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं।

जेडीयू ने रमेश कुशवाहा की पत्नी को सिवान से दिया टिकट

बाहुबली रमेश सिंह कुशवाहा पत्नी विजयलक्ष्मी देवी को सिवान से उम्मीदवार बनाया गया है। जेडीयू ने उन्हें चुनावी मैदान में उतारा है। रमेश कुशवाहा भी विधायक रह चुके हैं। रमेश सिंह कुशवाहा ने 1997 में जेएनयू के छात्र नेता चन्द्रशेखर प्रसाद की हत्या मामले में सीवान के तत्कालीन डॉन से सांसद बने मोहम्मद सहाबुद्दीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद से रमेश कुशवाहा की सिवान में तूती बोलने लगी।

यह भी पढ़ें : भाजपा ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट, जानें किसे कहां से मिला टिकट

अशोक महतो की पत्नी को भी मिला टिकट

बिहार के गैंगस्टर अशोक महतो 17 साल तक जेल में रहकर पिछले साल बाहर आए हैं। इस बार राष्ट्रीय जनता दल ने अशोक महतो की पत्नी अनीता कुमार को मुंगेर से चुनावी मैदान में उतारा है, जहां उनका मुकबला जेडीयू प्रत्याशी ललन सिंह से होगा।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो