whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

'सन ऑफ मल्लाह' की महागठबंधन में होगी एंट्री, मिल सकती हैं इतनी सीटें; 'पारस' का क्या होगा?

Mukesh Sahani VIP: बिहार के सन ऑफ मल्लाह यानी मुकेश सहनी की महागठबंधन में एंट्री लगभग फाइनल हो चुकी है। वे मुजफ्फरपुर से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। वहीं, पशुपति कुमार पारस को महागठबंधन में एंट्री नहीं मिल पाई है।
02:48 PM Mar 28, 2024 IST | Achyut Kumar
 सन ऑफ मल्लाह  की महागठबंधन में होगी एंट्री  मिल सकती हैं इतनी सीटें   पारस  का क्या होगा
Mukesh Sahani की क्या महागठबंधन में होगी एंट्री, पशुपति पारस क्या करेंगे?

Bihar Lok Sabha Election 20204 Mukesh Sahani VIP: बिहार को लेकर महागठबंधन में आज तस्वीर साफ हो सकती है। माना जा रहा है कि महागठबंधन में शामिल दलों के बीच सीटों का ऐलान हो सकता है। इस बीच, 'सन ऑफ मल्लाह' मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी (विकासशील इंसान पार्टी) को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि महागठबंधन में वीआईपी की एंट्री लगभग फाइनल हो चुकी है। वही पशुपति पारस को एंट्री नहीं मिली है। वीआईपी को महागठबंधन में तीन सीटें मिलने की उम्मीद है।

मुजफ्फरपुर से चुनाव लड़ सकते हैं मुकेश सहनी

मिली जानकारी के मुताबिक, वीआईपी के संरक्षक और पूर्व मंत्री मुकेश सहनी मुजफ्फरपुर से खुद उम्मीदवार हो सकते हैं। इसके अलावा, दो अन्य सीट मिलेगी। वीआईपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता देव ज्योति ने बताया कि आज सब कुछ क्लियर हो जायेगा। उन्होंने कहा कि वीआईपी को साथ नहीं लेने का खामियाजा एनडीए को भुगतना पड़ेगा।

बीजेपी ने नहीं दी मुकेश सहनी को तीन सीट

दरअसल, मुकेश सहनी लगातार बीजेपी के बड़े नेताओं के संपर्क में थे। वे तीन सीट से कम लेने को तैयार नहीं थे, जबकि बीजेपी उन्हें एक सीट से ज्यादा नहीं दे रही थी। इसके अलावा, सहनी मल्लाहों को आरक्षण की मांग पर भी अड़े थे। आरक्षण को लेकर पिछले वर्ष उन्होंने संकल्प यात्रा भी बिहार में निकाली थी और अपनी जाति के लोगों से हाथ में गंगाजल लेकर संकल्प करवाया था कि इस बार वीआईपी को ही वोट दें। केंद्र सरकार ने वीआईपी प्रमुख को 'Y' कैटेगरी की सुरक्षा दे रखी है।

यह भी पढ़ें: 1000 नक्‍सल‍ियों ने बोला हमला, जहानाबाद जेल से उड़ा ले गया 389 कैदी; अब RJD से मांग रहा ट‍िकट

पशुपति पारस की महागठबंधन में 'नो एंट्री'

दूसरी तरफ, पशुपति पारस वाली लोक जनशक्ति पार्टी को महागठबंधन में एंट्री नहीं मिली है। पारस अकेले पड़ गए है। यहां तक कि उनके साथ के सांसद भी अलग राह पकड़ चुके हैं। ऐसे में अब पारस को महागठबंधन से मिलने वाला ऑफर भी बंद हो गया है। इस बात की संभावना खत्म हो गई है कि पारस को महागठबंधन का साथ मिलेगा।

यह भी पढ़ें: Aurangabad Lok Sabha Election: ‘जीना यहां, मरना यहां..’; औरंगाबाद के वो MP, ज‍िन्‍हें हराने के ल‍िए RJD को रचना पड़ेगा नया इत‍िहास

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो