whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

महेंद्र सिंह धोनी क्यों दूसरे कप्तानों से जुदा थे? अश्विन ने बताई MS की सबसे बड़ी क्वालिटी

12:53 PM Jun 23, 2023 IST | Bhoopendra Rai
महेंद्र सिंह धोनी क्यों दूसरे कप्तानों से जुदा थे  अश्विन ने बताई ms की सबसे बड़ी क्वालिटी
Ravichandran Ashwin

Ravichandran Ashwin: 10 साल पहले आज ही के दिन टीम इंडिया ने साल 2013 में इंग्लैंड को हराकर चैंपियंस ट्रॉफी पर कब्जा किया था। इस जीत के साथ महेंद्र सिंह धोनी तीन अलग-अलग ICC टूर्नामेंट की ट्रॉफी जीतने वाले पहले कप्तान बने थे। इस ट्रॉफी को जीतने वाली टीम में स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन भी अहम हिस्सा थे। उन्होंने एमएस धोनी की कप्तानी पर बड़ी प्रतिक्रिया दी है।

रविचंद्रन अश्विन अपने करियर में पूर्व कप्तान विराट कोहली, एमएस धोनी और रोहित शर्मा को मिलकर तीनों के अंडर में खेल चुके हैं। अश्विन ने इस बात का खुलासा कर दिया है कि आखिर धोनी में ऐसी कौन सी चीज है, जो उन्हें दूसरे कप्तानों से अलग और खास बनाती है।

धोनी में क्या था खास, अश्विन ने किया खुलासा

आर अश्विन ने बताया है कि ‘धोनी के नेतृत्व में खिलाड़ियों में अपने खेल को लेकर सुरक्षा का भाव रहता था और एमएस किसी भी आईसीसी ट्रॉफी के लिए अपने मुख्य 15 खिलाड़ियों का पुरजोर समर्थन किया करते थे। कुछ ऐसा ही धोनी ने आईपीएल के दौरान भी किया।’

धोनी खिलाड़ियों के लिए सुरक्षा का भाव देते थे

साल 2011 में विश्व कप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी जीतने वाली टीम के अहम सदस्य रहे अश्विन ने आगे कहा कि ‘हम ज्यादातर लोग एमएस धोनी के नेतृत्व की बात करते हैं, ऐसे में सवाल है कि धोनी क्या किया करते थे? बात यह है कि धोनी ने बातों को बहुत ही साधारण रखा। मैं धोनी के अंडर में खेला। वह 15 खिलाड़ी चुनते थे और पूरे साल इन्हीं 15 और 11 के साथ मैदान पर उतरते थे। किसी भी खिलाड़ी के लिए सुरक्षा का भाव बहुत ही अहम है।

पिछले 10 साल में कोई भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत पाई टीम इंडिया

विराट कोहली के नेतृत्व में टीम इंडिया 2017 में चैंपियंस ट्रॉफी (फाइनल) हारी थी। फिर साल 2019 विश्व कप (सेमीफाइनल) में भी भारत को हार मिली। इसके बाद टीम इंडिया 2022 का टी20 विश्व कप नहीं जीत पाई। अब इसी साल वनडे विश्वकप 2023 का आयोजन होना है।

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में मिली हार पर क्या बोले अश्विन

WTC Final में मिली हार के बाद अश्विन ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों का समर्थ किया। उन्होंने कहा कि ‘यह समझा जा सकता है कि इस बात से फैंस में खासा गुस्सा है कि भारत पिछले दस साल में कोई आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत सका है, मुझे प्रशंसकों के साथ सहानुभूति है, लेकिन सोशल मीडिया खिलाड़ी विशेष को लेकर ड्रॉप किए जाने, किसी को शामिल करने, आदि जैसे मैसेज करता रहता है, लेकिन आप एक बात जान लें कि खिलाड़ियों की योग्यता में पखवाड़े भर में बदलाव नहीं आ जाएगा।

(https://www.madisonavenuemalls.com/)

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो