whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

दिल्ली महिला आयोग के 223 कर्मी बर्खास्त; LG सक्सेना पर भड़कीं स्वाति मालीवाल बोलीं- तुगलकी फरमान

Delhi Women Commission Employees Sacked: दिल्ली महिला आयोग के 200 से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया है। LG ने आज एक आदेश जारी करके यह कार्रवाई की। वहीं आयोग की पूर्व अध्यक्ष आदेश लागू होने से भड़क गईं और उन्होंने जमकर अपनी भड़ास निकाली।
12:48 PM May 02, 2024 IST | Khushbu Goyal
दिल्ली महिला आयोग के 223 कर्मी बर्खास्त  lg सक्सेना पर भड़कीं स्वाति मालीवाल बोलीं  तुगलकी फरमान
Swati Maliwal, Delhi Women Commission

Delhi Women Commission Employees Sacked: दिल्ली महिला आयोग के 223 कर्मचारी नौकरी से निकाल दिए गए हैं। बर्खास्तगी के आदेश LG वीके सक्सेना ने जारी किए। आरोप हैं कि आयोग की पूर्व अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बिना अनुमोदन के नियमों का उल्लंघन करके निकाले गए कर्मचारियों को भर्ती किया था, इसलिए उन्हें बर्खास्त किया जाता है। वहीं इस कार्रवाई से स्वाति मालीवाल भड़क गईं। उन्होंने LG पर अपनी भड़ास निकालते हुए बर्खास्तगी के आदेश को तुगलकी फरमान बताया।

यह भी पढ़ें:कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट से क्यों हटी PM मोदी की फोटो? हेल्थ मिनिस्टरी को देनी पड़ी सफाई

अवैध करार दी गईं नियुक्तियां

LG ऑफिस की ओर से जारी आदेशों में कहा गया है कि दिल्ली महिला आयोग में 40 स्टाफ की भर्ती होनी थी, लेकिन LG से मंजूरी लिए बिना 200 से ज्यादा कर्मचारी भर्ती कर दिए गए थे, जबकि आयोग के पास संविदा के आधार पर मर्जी से ज्यादा कर्मचारी भर्ती करने की शक्तियां नहीं हैं। इसलिए नियुक्तियों को अवैध करार देते हुए संज्ञान लिया गया और आदेश जारी करके भर्ती किए गए कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया गया। नियुक्तियां अवैध मानी गईं है और आयोग को कर्मियों की सेवाएं जारी रखने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

यह भी पढ़ें:‘स्कूल में मिला है बम’…ऐसे ऑडियो मैसेज आएं तो न करें सर्कुलेट; दिल्ली पुलिस का अलर्ट

क्या कहा स्वाति मालीवाल ने?

LG की ओर से जारी बर्खास्तगी के आदेशों पर आयोग की पूर्व अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के आदेश को तुगलकी फरमान बताया और कहा कि महिला आयोग में 90 कर्मचारी हैं, लेकिन सिर्फ 8 कर्मी काम कर रहे हैं। अगर कर्मचारियों को हटा दिया गया तो आयोग पर ताला जड़ जाएगा। सरकार को स्टाफ देना चाहिए, लेकिन छीनकर आयोग को खत्म करने की कोशिश की जा रही है, लेकिन जब तक मैं जिंदा हूं, दिल्ली महिला आयोग को बंद नहीं होने दूंगी। चाहे मुझे जेल में डाल दो, लेकिन महिलाओं पर अत्याचार नहीं होने दूंगी।

यह भी पढ़ें:Anupama की राजनीति में एंट्री, BJP में शामिल हुईं, जानें Rupali Ganguly चुनाव लड़ेंगी या नहीं?

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो