whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

Salary Hike Skills: सैलरी में 50% इजाफा करा देंगी ये स्किल्स, रिपोर्ट में दावा

Skills For Salary Hike: आज के टाइम में हर जगह कंपटीशन बढ़ गया है। प्राइवेट नौकरी कर रहे आईटी प्रोफेशनल्स को सैलरी बढ़वाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस बीच एक रिपोर्ट सामने आई है जिसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) की अच्छी समझ रखने वाले कर्मचारियों की सैलरी 50 परसेंट से ज्यादा बढ़ सकती है।
08:21 PM Mar 21, 2024 IST | Prerna Joshi
salary hike skills  सैलरी में 50  इजाफा करा देंगी ये स्किल्स  रिपोर्ट में दावा
Skills For Salary Hike

Skills For Salary Hike: आजकल एक प्राइवेट नौकरी में अच्छी सैलरी पाना काफी मुश्किल टास्क माना जाता है। जब बात भारतीय आईटी कंपनियों में काम कर रहे लोगों की आती है तो उन्हें सैलरी में बढ़ोत्तरी के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। ऐसे में, अगर आप एक भारतीय आईटी प्रोफेशनल हैं तो ये स्किल सेट आपको 50% से ज्यादा सैलरी हाइक लेने में मदद कर सकता है।

आईटी प्रोफेशनल्स की सैलरी में 54 परसेंट से ज्यादा की वृद्धि 

अमेज़न वेब सर्विसेज (AWS) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) की अच्छी समझ रखने वाले कर्मचारी अपने करियर में उल्लेखनीय तरक्की के लिए तैयार हैं। रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया कि एआई स्किल्स और ज्ञान वाले आईटी प्रोफेशनल्स की सैलरी में 54 परसेंट से ज्यादा की वृद्धि हो सकती है, जिसमें आईटी और रिसर्च और विकास क्षेत्र के लोग लीड करेंगे। "एक्सीलरेटिंग एआई स्किल्स: भविष्य की नौकरियों के लिए एशिया-पेसिफिक वर्कफोर्स को तैयार करना" टाइटल वाली रिपोर्ट में भारत में 1,600 से ज्यादा वर्कर्स और 500 एम्प्लॉयर्स का सर्वे करने का दावा किया गया है। यह एक साफ तस्वीर दिखाता है जिसमें एआई तेजी से कार्यस्थल (वर्कप्लेस) को बदल रहा है और कंपनियां इसे अपनाने के लिए उत्सुक हैं।

यह भी पढ़ें: WhatsApp ला रहा है 2 जबरदस्त फीचर! चैटिंग में आएगा डबल मजा, जानें कैसे

एआई को अपना रही हैं देसी कंपनियां

रिपोर्ट में भारतीय व्यवसायों के बीच एआई को अपनाने की दिशा में एक मजबूत दबाव का भी पता चला है। सर्वे में शामिल लगभग सभी एम्प्लॉयर्स (99%) ने 2028 तक अपनी कंपनियों को एआई द्वारा चलाए जाने की कल्पना की है। जबकि वित्त विभागों को सबसे बड़ा लाभ मिलने की उम्मीद है, आईटी, आर & डी, सेल्स और मार्केटिंग, और यहां तक कि मानव संसाधन और कानूनी विभागों समेत अलग-अलग सेक्टरों में एआई से अहम मूल्य की उम्मीद है। "जबकि ज्यादातर एम्प्लॉयर्स (97 परसेंट) मानते हैं कि उनका फाइनेंस डिपार्टमेंट सबसे बड़ा लाभार्थी होगा, वे आईटी (96 प्रतिशत), रिसर्च और डेवलपमेंट (96 प्रतिशत), सेल्स और मार्केटिंग (96 प्रतिशत), बिजनेस ऑपरेशन्स ( 95 प्रतिशत), ह्यूमन रिसोर्सेज (94 प्रतिशत), और लीगल (92 प्रतिशत) विभाग भी एआई से अहम मूल्य ले कर रहे हैं,'' रिपोर्ट में कहा गया।

हर काम का फ्यूचर जनरेटर एआई टूल्स के साथ जुड़ा हुआ लगता है। लगभग सभी एम्प्लॉयर्स और वर्कर्स को अगले पांच सालों के अंदर इन टूल्स के काफी ज्यादा इस्तेमाल की उम्मीद है। बढ़े हुए इनोवेशन और क्रिएटिविटी को जेनेरिक एआई के टॉप फायदों के तौर पर देखा जाता है। रिपोर्ट में वर्कफोर्स को फ्यूटर के लिए जरूरी एआई स्किल्स से लैस करने के लिए सरकार, इंडस्ट्री और शैक्षणिक संस्थानों के बीच कोलैबोरेशन की आवश्यकता पर जोर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: SIM कार्ड पोर्ट करवाने पर बैन वाला नियम है काफी फायदेमंद; जानें कैसे?

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो