whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

श्री राजपूत करणी सेना फिर आई चर्चा में, हिरासत में महिपाल सिंह मकराना

Mahipal Singh Makrana Detain : गुजरात में केंद्रीय मंत्री परषोत्तम रूपाला की टिप्पणी से भारतीय जनता पार्टी मुश्किल में फंसती नजर आ रही है। क्षत्रिय समाज ने रूपाला के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस मामले में सपोर्ट करने आ रहे श्री राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना हिरासत में लिए गए हैं।
05:47 PM Apr 06, 2024 IST | Deepak Pandey
श्री राजपूत करणी सेना फिर आई चर्चा में  हिरासत में महिपाल सिंह मकराना
हिरासत में लिए गए महिपाल सिंह मकराना।

Mahipal Singh Makrana Detain : देश में लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर सियासी अखाड़ा सज गया है। राजनीतिक पार्टियां भी दो-दो हाथ कर रही हैं। गुजरात में रजवाड़ों पर टिप्पणी करना केंद्रीय मंत्री परषोत्तम रूपाला को भारी पड़ रहा है। क्षत्रिय समाज ने रूपाला के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस मामले में श्री राजपूत करणी सेना भी चर्चा में आ गई है। पुलिस ने श्री राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना को हिरासत में लिया है।

भारतीय जनता पार्टी ने गुजरात की राजकोट लोकसभा सीट से परषोत्तम रूपाला को चुनावी मैदान में उतारा है। उनके बयान को लेकर गुजरात में राजनीति गरमा गई है। रूपाला के खिलाफ क्षत्रिय समाज एकजुट हो गया है और उन्होंने राजकोट से किसी अन्य उम्मीदवार को टिकट देने की मांग की है। इस बीच क्षत्रिय समाज की सात महिलाओं ने जौहर करने का ऐलान किया है।

यह भी पढ़ें : कौन हैं दीपक सक्सेना? जिन्होंने कमलनाथ से 45 साल पुराना रिश्ता तोड़ा, भाजपा में हुए शामिल

क्षत्रिय समाज के सपोर्ट में आई श्री राजपूत करणी सेना

इस मामले में श्री राजपूत करणी सेना ने भी क्षत्रिय समाज का समर्थन किया है। रूपाला का विरोध कर रहे क्षत्रिय समाज के लोगों से मिलने के लिए महिपाल सिंह मकराना जा रहे थे, लेकिन अहमदाबाद में पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है।

यह भी पढ़ें : ‘मीरा यादव चुनाव लड़तीं तो मजा आता’, MP से SP प्रत्याशी के नामांकन रद्द होने पर बोले BJP प्रदेश अध्यक्ष

जानें परषोत्तम रूपाला ने क्या की थी टिप्पणी

केंद्रीय मंत्री और भाजपा उम्मीदवार परषोत्तम रूपाला ने राजकोट में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि तत्कालीन महाराजाओं का अंग्रेजों और विदेशी शासकों के साथ रोटी-बेटी का संबंध था। उन्होंने उनके आगे घुटने टेक दिए थे। रूपाला के इस बयान से क्षत्रिय समाज नाराज है। हालांकि, रूपाला अपने बयान को लेकर माफी भी मांग चुके हैं, लेकिन क्षत्रिय समाज ने उनकी माफी स्वीकार नहीं की।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो