whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

मोहब्बत की सजा मौत: बस में मिले 'प्यार' से करनी थी शादी, परिजनों ने हत्या कर लाश जला दी

Haryana Honor Killing Case: हरियाणा में एक 18 साल की लड़की की हत्या कर दी गई। उसकी मुलाकात बस में एक लड़के से हुई और फिर शादी के लिए दोनों भाग गए। बाद में, खबर के मुताबिक लड़की की बॉडी को जंगल में जला दिया गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
09:55 PM Mar 18, 2024 IST | Prerna Joshi
मोहब्बत की सजा मौत  बस में मिले  प्यार  से करनी थी शादी  परिजनों ने हत्या कर लाश जला दी
Haryana Honor Killing Case

Haryana Honor Killing Case: हरियाणा के गुरुग्राम में एक 18 साल की बच्ची की हत्या का मामला सामने आया है। परिजनों ने ही अपनी बेटी की हत्या कर दी। सोहना इलाके में झूठी शान की खातिर बच्ची को मौत के घाट उतार दिया गया। पुलिस ने ऑनर किलिंग के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जानिए क्या है क्राइम से जुड़ा पूरा मामला?

कहां से शुरू हुई कहानी?

पिछले साल अक्टूबर 2023 में राहुल और मानसी की मुलाकात सोहना के एक बस स्टॉप पर हुई। दोनों अजनबी थे, सफर तय करते हुए आपस में नंबर एक्सचेंज किए। पांच महीने बाद, मानसी (18) की मौत हो गई और राहुल (19) घर नहीं लौट सका, उसके परिवार को डर है कि उसका भी वही हश्र होगा। उस बस यात्रा के बाद वो मिलते रहे। जल्द ही, प्यार परवान चढ़ गया और कुछ घंटों की दूरी भी उन्हें परेशान करने लगी।

दोनों 20 किमी दूर गांवों में रहते थे, लेकिन उनकी जातियों के बीच सामाजिक अंतर की तुलना में यह कुछ भी नहीं था। दोनों को इसके बारे में अच्छी तरह से पता था, इसलिए उन्होंने वही किया जो उनके जैसे कई प्यार में पड़े लोग करते हैं।

यह भी पढ़ें: Egg Curry नहीं बनाई तो किया लिव-इन पार्टनर का मर्डर, कचरा बीनने वाली के साथ रहता था शख्स

जनवरी 2024 में वो भाग गए और उन्होंने शादी करने का फैसला लिया। 48 घंटों के अंदर, राहुल के माता-पिता ने धमकाकर और इस कदम के परिणामों से डराकर दोनों को वापस लौटने के लिए मना लिया। 2 फरवरी को, एक बैठक में जहां गांव के एक बुजुर्ग मौजूद थे, मानसी को उसके परिवार के सदस्यों को सौंप दिया गया। परिजन उसे घर ले गए।

मार्च में शुरू हुई पुलिस जांच में पाया गया कि मानसी की 3 और 4 फरवरी को देर रात मार दिया गया और अरावली के जंगलों में कहीं उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। उसके पिता बलबीर, चाचा और चचेरे भाई को मुख्य संदिग्ध के रूप में गिरफ्तार किया गया है। शव अभी तक नहीं मिला है, लेकिन पुलिस का कहना है कि उनके पास यह दिखाने के लिए पर्याप्त सबूत हैं कि हत्या "ऑनर किलिंग" के नाम पर की गई थी।

बॉडी के अवशेष कहां हैं?

आरोपियों के खिलाफ मजबूत मामला बनाने के लिए पुलिस के लिए अवशेष ढूंढना बहुत जरूरी है। हालांकि, पुलिस को जंगल में एक जगह के बारे में बताया गया था जहां मानसी को दफनाया गया होगा लेकिन उन्हें वहां से सिर्फ कुछ राख मिली। सैंपल्स को टेस्ट के लिए भेज दिया गया है। “हमें डीएनए टेस्ट करवाना होगा। इसके लिए हमें अवशेष ढूंढने होंगे। आरोपियों ने उस जगह को साफ कर दिया जहां उन्होंने उसका अंतिम संस्कार किया था। हम उनके रूट का पता लगाने के लिए सीसीटीवी फुटेज की तलाश कर रहे हैं लेकिन अपराध को एक महीने से ज्यादा समय बीत चुका है। इतने लंबे समय के बाद सबूत इकट्ठा करना मुश्किल है” अधिकारी ने कहा।

आपको बता दें कि मानसी के परिवार ने शुरू में पुलिस को गुमराह किया, कहा कि उसके अवशेषों को यूपी में गंगा में डाल दिया गया था। अधिकारी ने कहा, ''डीएनए टेस्ट के बिना मामला कमजोर हो जाता है।'' डीसीपी (दक्षिण) सिद्धांत जैन ने कहा कि गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपी जेल में बंद हैं। “वे न्यायिक रिमांड पर हैं। हमें और लोगों को गिरफ्तार करने की जरूरत है। जांच अभी खत्म नहीं हुई है,'' उन्होंने कहा।

इस महीने अपने पिता और बाकी लोगों की गिरफ्तारी के बाद से मानसी के घर पर ताला लगा हुआ है। जब उन्होंने फोटो लेने की कोशिश की तो पड़ोसियों ने विरोध किया और टीओआई टीम से गांव छोड़ने के लिए कहा। “फोटो की कोई जरूरत नहीं। बस चले जाओ,'' एक युवक दूर से चिल्लाया। “तुम्हें घर में कोई नहीं मिलेगा। वे सब चले गए हैं।”

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो