whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

Himachal Political Crisis: क्रॉस वोटिंग करने वाले कांग्रेस के सभी 6 विधायकों की सदस्यता रद्द, स्पीकर ने क्या कहा?

Himachal Pradesh Political Crisis: हिमाचल प्रदेश में जारी सियासी संकट के बीच विधानसभा के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने क्रॉस वोटिंग करने वाले कांग्रेस के सभी 6 विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया। स्पीकर ने कहा कि सभी विधायकों ने व्हिप का उल्लंघन किया है। उन्होंने जनादेश का अपमान किया है।
10:13 AM Feb 29, 2024 IST | Achyut Kumar
himachal political crisis  क्रॉस वोटिंग करने वाले कांग्रेस के सभी 6 विधायकों की सदस्यता रद्द  स्पीकर ने क्या कहा
हिमाचल प्रदेश विधानसभा स्पीकर ने कांग्रेस के बागी विधायकों की सदस्यता रद्द की

Himachal Pradesh Political Crisis: हिमाचल प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग करने वाले कांग्रेस के 6 बागी विधायकों की सदस्यता रद्द कर दी है। स्पीकर ने कहा कि सभी 6 विधायकों ने व्हिप का उल्लंघन और जनादेश का अपमान किया है। जिन विधायकों को अयोग्य करार दिया गया है, उनमें राजेंद्र राणा, रवि ठाकुर, देवेंद्र सिंह, सुधीर शर्मा, चैतन्य शर्मा और इंदर दत्त लखनपाल शामिल हैं। कांग्रेस विधायक और संसदीय कार्य मंत्री हर्ष वर्धन चौहान ने दलबदल विरोधी कानून के तहत सभी 6 विधायकों को अयोग्य ठहराने के लिए याचिका दायर की थी। माना जा रहा है कि बागी विधायक अब हाईकोर्ट जा सकते हैं।

सीएम सुक्खू के घर हुई बैठक

इससे पहले, सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू ने आज शिमला में सभी कांग्रेस विधायकों की 'ब्रेकफास्ट मीटिंग' बुलाई थी। विधायक आशीष बुटेल ने कहा कि यह एक महत्वपूर्ण बैठक है। देखते हैं क्या होता है...यह एक अनौपचारिक बैठक है।

संकट का सामना कर रही सुक्खू सरकार

कांग्रेस के छह विधायकों के पाला बदलने और भाजपा के संपर्क में होने के बाद हिमाचल की सुक्खू सरकार संकट का सामना कर रही है। राज्य की 68 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 40 विधायक हैं, जबकि भाजपा के 25 विधायक हैं। बाकी तीन सीटों पर निर्दलियों का कब्जा है।  बुधवार को कांग्रेस विधायकों ने दो केंद्रीय पर्यवेक्षकों डीके शिवकुमार और भूपेन्द्र हुडडा से अलग-अलग मुलाकात की। पर्यवेक्षक अब अपनी रिपोर्ट पार्टी आलाकमान को सौंपेंगे।

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश के CM सुखविंदर सिंह सुक्खू ने दिया इस्तीफा? जानें क्या है सच्चाई

स्पीकर ने 15 विधायकों को किया निलंबित

स्पीकर द्वारा अपने कक्ष में हंगामा करने के लिए 15 भाजपा विधायकों को निलंबित करने के बाद कांग्रेस राज्य का बजट पारित करने में कामयाब रही। हालांकि, बीजेपी ने इस कदम की कड़ी आलोचना की। पूर्व सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि भाजपा के पास 25 विधायक हैं। राज्यसभा में वोटिंग के बाद संख्या बढ़कर 34 हो गई। इससे सरकार के लिए खतरा पैदा हो गया। उन्हें किसी तरह बजट पास कराना था, नहीं तो सरकार गिर जाती। इसके लिए उन्हें बीजेपी विधायकों की संख्या कम करनी पड़ी।

कांग्रेस सरकार बचाने के लिए हमें किया गया निलंबित

जयराम ठाकुर ने कहा कि मेरे सहित 15 विधायकों को निलंबित कर दिया गया है। हमें कांग्रेस सरकार को बचाने के लिए निलंबित कर दिया गया था। हमारे निलंबन के बाद, उन्होंने बजट पारित किया। बीजेपी ने दावा किया कि विधानसभा में बहुमत खोने के बाद कांग्रेस ने सत्ता में रहने की नैतिक हैसियत खो दी है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश की सुक्खू सरकार पर छाया संकट, क्या सही साबित होगी महाजन की भविष्यवाणी?

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो