whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

हिमाचल प्रदेश की सुक्खू सरकार पर छाया संकट, क्या सही साबित होगी महाजन की भविष्यवाणी?

Himachal Pradesh Political Crisis: हिमाचल प्रदेश की सुक्खू सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी अभिषेक मनु सिंघवी की हार के बाद माना जा रहा है कि उनके खिलाफ विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाया जा सकता है। तीन निर्दलीय समेत कांग्रेस के 6 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की थी।
07:04 AM Feb 28, 2024 IST | Achyut Kumar

Rajya Sabha Election 2024 Himachal Pradesh Political Crisis: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस को तगड़ा झटका लगा है। उसके वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी को राज्यसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। उन्हें बीजेपी के हर्ष महाजन ने मात दी। सिंघवी की हार के बाद अब मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू की सरकार पर संकट के बाद छा गए हैं। पार्टी के 6 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की। इसके साथ ही महाजन की भविष्यवाणी भी सच साबित होती दिख रही है।

अभिषेक मनु सिंघवी को मिली हार

दरअसल, हिमाचल प्रदेश की एकमात्र राज्यसभा सीट पर हुए चुनाव में विधानसभा में बहुमत के बावजूद कांग्रेस प्रत्याशी अभिषेक मनु सिंघवी को हार का सामना करना पड़ा। हिमाचल विधानसभा में कांग्रेस के 40 विधायक हैं। उसे तीन निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन हासिल था। ऐसे में उम्मीद थी कि कांग्रेस यह सीट आसानी से जीत लेगी, लेकिन बीजेपी ने हर्ष महाजन को अपने प्रत्याशी के रूप में उतारकर कांग्रेस को तगड़ा झटका दिया।

कांग्रेस के साथ निर्दलीय विधायकों ने भी क्रॉस वोटिंग

हर्ष महाजन को 34 वोट मिले, जबकि कांग्रेस के 6 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की। इन विधायकों ने दावा किया कि 26 विधायक सुक्खू को बाहर करना चाहते हैं। वे उनसे खुश नहीं हैं। कांग्रेस के 6 विधायकों के अलावा, तीन निर्दलीय विधायकों ने भी महाजन के पक्ष में वोट किया। चुनाव में जीत का फैसला ड्रॉ के माध्यम से हुआ, क्योंकि दोनों उम्मीदवारों को 34-34 वोट मिले थे।

हर्ष महाजन ने क्या कहा?

हर्ष महाजन ने राज्यसभा चुनाव में अभिषेक मनु सिंघवी को हराने के बाद कहा कि कांग्रेस की सुक्खू सरकार अभी अल्पमत में है। सरकार में बैठे लोग इस तरफ आने के लिए तैयार हैं। वे सरकार से नाखुश हैं। इतने परेशान हैं कि वे कुछ भी कर सकते हैं। महाजन ने दावा किया कि यह सरकार नहीं चलेगी। यह गिर जाएगी।

यह भी पढ़ें: बीजेपी यूपी-हिमाचल में ही उलझी रही, उधर कर्नाटक में कांग्रेस ने कर दिया ‘खेला’

अभिषेक मनु सिंघवी ने क्या कहा?

कांग्रेस उम्मीदवार अभिषेक मनु सिंघवी ने हर्ष महाजन को जीत की बधाई देते हुए कहा कि मैं उनकी पार्टी से कहना चाहूंगा कि वह आत्मनिरीक्षण करें और सोचें। जब एक 25 सदस्यीय पार्टी 43 सदस्यीय पार्टी के खिलाफ उम्मीदवार खड़ा करती है तो उसका एक ही संदेश हो सकता है- हम बेशर्मी से वो करेंगे, जिसकी कानून अनुमति नहीं देता।

जयराम ठाकुर ने की सुक्खू के इस्तीफे की मांग

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने सुक्खू से इस्तीफा देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि देश में ऐसा माहौल बन रहा है कि हर कोई कांग्रेस छोड़ रहा है। मैं सभी भाजपा, कांग्रेस और निर्दलीय विधायकों को धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने हमारी मदद की। इस हार के बाद सुखविंदर सिंह सुक्खू को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। विधायकों ने महज एक साल में उन्हें छोड़ दिया। माना जा रहा है कि सदन में सुक्खू के खिलाफ बीजेपी जल्द ही अविश्वास प्रस्ताव ला सकती है।

यह भी पढ़ें: राज्यसभा चुनाव: यूपी में 8 सीटों पर बीजेपी की जीत, समाजवादी पार्टी को झटका

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो