whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

'न नौ मन तेल होगा न....' INDIA गठबंधन की सरकार को बाहर से समर्थन के ममता बनर्जी के बयान पर BJP का पलटवार

Bengal Lok Sabha Elections 2024: बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बयान दिया था कि अगर इंडी गठबंधन की सरकार बनाने के लिए वे इसको बाहर से समर्थन देंगी। जिसके ऊपर अब बीजेपी ने भी पलटवार किया है। बीजेपी ने कहा है कि सरकार मोदी ही बनाएंगे। ममता के दावे हवा में है, ऐसा कुछ नहीं होगा।
11:01 PM May 15, 2024 IST | Parmod chaudhary
 न नौ मन तेल होगा न      india गठबंधन की सरकार को बाहर से समर्थन के ममता बनर्जी के बयान पर bjp का पलटवार
बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी।

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव में प्रचार के दौरान तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो और बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बड़ा बयान दिया है। ममता ने कहा है कि वे बाहर से समर्थन देकर इंडी गठबंधन की सरकार बनाने में भूमिका निभाएंगी। ममता ने ये भी साफ किया कि उनकी पार्टी का बंगाल की कांग्रेस और सीपीएम से कोई लेना-देना नहीं है। लेकिन दिल्ली की राजनीति में वे इंडी गठबंधन के साथ बड़ी भूमिका निभाने को तैयार हैं।

इसी बीच बंगाल भाजपा के प्रवक्ता राजर्षि लाहिड़ी ने उनके बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि ममता के दावे सिर्फ हवा में हैं। वास्तविकता कुछ और है। ममता ने हुगली जिले में चुंचुड़ा में एक रैली में बयान दिया था। जिसमें कहा था कि बंगाल सीपीएम और कांग्रेस को देखने की जरूरत नहीं है। वे लोग उससे अलग हैं। हम दिल्ली की बात कर रहे हैं, जहां बाहर से समर्थन देकर इंडी गठबंधन की सरकार बनाई जाएगी। बंगाल की माताओं और बहनों को परेशान नहीं होने देंगे। इंडी गठबंधन के गठन के समय ममता काफी सक्रिय दिखी थीं। लेकिन बाद में उन्होंने इससे किनारा कर लिया।

यह भी पढ़ें:CAA के तहत 14 लोगों को मिली भारत की नागरिकता, गृह मंत्रालय ने जारी किए सर्टिफिकेट

बंगाल की बात करें, तो यहां भाजपा, तृणमूल कांग्रेस, कांग्रेस और सीपीएम अलग-अलग लड़ रहे हैं। ममता की घोषणा के बाद अब राजनीति तेज हो गई है। लोग जानना चाह रहे हैं कि ममता क्या सरकार बनने पर कैबिनेट में शामिल नहीं होंगी? क्या ये सिर्फ संकेत है? इससे पहले 1998 में बीजेपी सरकार आने पर ममता 13 महीने सरकार से बाहर रही थीं। वहीं, 1999 से लेकर वे 2004 (एक निश्चित अवधि को छोड़कर) में केंद्र सरकार का हिस्सा रहीं। इसके बाद 2009 में मनमोहन सरकार में मंत्री रहीं। बाद में सीएम बनने पर पद 2011 में पद छोड़ दिया था।

वामपंथियों ने ऐसी ही रणनीति चुनी थी

2004 में जब सरकार आई, तो वामपंथियों ने मनमोहन सिंह को बाहर से सपोर्ट किया था। वे कैबिनेट से बाहर थे। अब 2024 में ममता के भाषण से कुछ ऐसी ही रणनीति दिखती है। टीएमसी नेता कुणाल घोष ने कहा है कि पार्टी क्या तय करेगी? ये उनके नेता तय करेंगे। इंडी गठबंधन सरकार बनाएगा। लेकिन बीजेपी नेता राजर्षि लाहिड़ी ने कहा कि सपने देखने का हक हर किसी को है। ममता सपना देख रही हैं। दिल्ली में मोदी ही सरकार बनाएंगे। बंगाल में तृणमूल की बुरी तरह हार होगी।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो