whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

स्टूडेंट्स के लिए गुड न्यूज, PhD कोर्स और UGC-NET एग्जाम के नियम बदले

PhD Course UGC NET Exam New Rules: PhD कोर्स और UGC-NET एग्जाम के नियमों में बदलाव हो गया है। यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन ने नोटिफिकेशन जारी करके नियम लागू कर दिए हैं। जानें कब से नए बदलाव अपनाए जाएंगे और इनसे क्या फायदा होगा?
07:50 AM Apr 22, 2024 IST | Khushbu Goyal
स्टूडेंट्स के लिए गुड न्यूज  phd कोर्स और ugc net एग्जाम के नियम बदले
नए नियमों का नोटिफिकेशन लागू हो गया है, जो सेशन 2024 से लागू हो जाएगा।

PhD Course UGC NET Exam New Rules: देशभर के स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी है। यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन ने PhD कोर्स और UGC-NET एग्जाम से जुड़े नियमों में बड़ा बदलाव किया है। बीते दिन नए नियमों का नोटिफिकेशन भी जारी हो गया था, जो इसी सेशन से लागू हो जाएगा।

वहीं नए नियम डॉक्टरेट की डिग्री लेने के इच्छुक युवाओं के लिए फायदेमंद साबित होगा। वहीं नेट एग्जाम देकर लेक्चरर बनने का सपना देख रहे कॉलेज स्टूडेंट्स का भी फायदा होगा। UGC-NET 2024 का नोटिफिकेशन जारी होने वाला है। ऐसे में स्टूडेंट्स नए नियमों के बारे में जानकर ही फॉर्म भरें।

क्या है नया नियम?

UGC चेयरमैन M जगदीश कुमार द्वार जारी किए नोटिफिकेशन के अनुसार, अब स्टूडेंट्स PhD कोर्स में सीधे दाखिला ले सकेंगे, लेकिन यह नियम सिर्फ 4 वर्षीय ग्रेजुएशन करने वालों के लिए होगा। इसका मतलब यह है कि PhD कोर्स करने के लिए पोस्ट ग्रेजुएशन नहीं करनी पड़ेगी, लेकिन एक शर्त यह भी है कि PhD कोर्स में दाखिले के लिए 4 वर्षीय ग्रेजुएशन कोर्स में 75% नंबर लेने अनिवार्य होंगे।

इसके अलावा 4 साल का ग्रेजुएशन कोर्स करने के बाद स्टूडेंट्स UGC-NET एग्जाम भी दे पाएंगे, लेकिन नियम यह है कि स्टूडेंट्स को ग्रेजुएशन में पढ़े सब्जेक्ट्स में से ही एक सब्जेक्ट नेट एग्जाम देने के लिए चुनना होगा और उसी सब्जेक्ट में वे PhD कोर्स कर पाएंगे।

बता दें कि पहले से लागू नियम के अनुसार, PhD कोर्स करने के लिए 3 वर्षीय ग्रेजुएशन कोर्ट और 55 प्रतिशत अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करना अनिवाय है, लेकिन अब यह नियम बदल जाएगा।

नए नियमों में किन स्टूडेंट्स को मिलेगी छूट?

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, नए नियमों से उन स्टूडेंट्स को छूट मिलेगी, जो 4 वर्षीय ग्रेजुएशन कोर्स के लास्ट ईयर में हैं, लेकिन 75 प्रतिशत नंबर लेने अनिवार्य होंगे। दूसरी ओर, SC-ST, OBC कैटेगरी के स्टूडेंट्स, दिव्यांगों, EWS वर्ग के स्टूडेंट्स को PhD कोर्स में दाखिले के लिए 5 प्रतिशत की छूट मिलेगी।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो