whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

World Civil Defense Day मनाने की शुरुआत कब हुई थी? क्या है 2024 की थीम

World Civil Defense Day 2024: हर साल 1 मार्च को विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस मनाया जाता है। आज हम आपको बताएंगे कि विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस क्यों मनाया जाता है। इसके अलावा ये भी बताएंगे कि इस साल की थीम क्या है।
02:49 PM Feb 28, 2024 IST | Nidhi Jain
world civil defense day मनाने की शुरुआत कब हुई थी  क्या है 2024 की थीम

World Civil Defense Day 2024: आपदाओं और आपात स्थितियों के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस मनाया जाता है। इस दिन दुनियाभर में नागरिक सुरक्षा संगठनों के लोगों को सम्मान दिया जाता है। साथ ही आमजन को इस दिन के प्रति जागरूक किया जाता है। ये संगठन आपातकालीन तैयारियों, आपात स्थिति के प्रभाव और समुदायों की रक्षा करने का काम करता है। साथ ही लोगों को उनके अथक प्रयासों की अहमियत बताता है।

आज हम आपको विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस के इतिहास के बारे में बताएंगे। इसके अलावा ये भी बताएंगे कि इस साल की थीम क्या है।

ये भी पढ़ें- कृष्ण से लेकर द्रौपदी तक…महाभारत के किरदारों से सीखें, कॉर्पोरेट ऑफिस में कैसे करना है बेस्ट काम?

क्या है इस साल की थीम?

बता दें कि विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस की इस साल की थीम बहुत खास है, क्योंकि इस बार की थीम नागरिकों की सुरक्षा के साथ-साथ आपातकालीन तैयारियों को दर्शाती है। इस साल की थीम हैं, ''नायकों का सम्मान करें और सुरक्षा कौशल को बढ़ावा दें।'' वहीं इससे पहले यानी 2023 की थीम का फोकस भविष्य की पीढ़ियों पर था। साल 2023 की थी, ''भविष्य की पीढ़ियों की सुरक्षा और सुरक्षा के लिए दुनिया के अग्रणी उद्योग विशेषज्ञों को एकजुट करना''। जबकि विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस 2022 की थीम सबसे अलग थी। विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस 2022 की थीम थी, ''नागरिक सुरक्षा और हर घर में सबसे पहले सहायता करना।''

विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस का इतिहास

बता दें कि साल 1931 में अंतर्राष्ट्रीय नागरिक सुरक्षा संगठन के जनरल ने विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस को मनाना का फैसला किया था। दरअसल सर्जन जनरल जॉर्ज सेंट पॉल और जेनेवा जोन एसोसिएशन आम लोगों के लिए सुरक्षित जोन बनाना चाहते थे। जहां युद्ध के दौरान वो खुद को सेफ रख सकें, क्योंकि उस समय युद्ध से सबसे ज्यादा आम जन ही प्रभावित होते थे। इसलिए 1990 में विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस की स्थापना की गई। वहीं इसके बाद से हर साल देशभर में 1 मार्च को विश्व नागरिक सुरक्षा दिवस मनाया जाने लगा।

इस दिन विशेष तौर पर लोगों को नागरिक सुरक्षा के महत्व के साथ-साथ आपदाओं में खुद को सुरक्षित कैसे करें, इसके प्रति नागरिकों को जागरूक किया जाता है। इसलिए इस दिन प्रत्येक नागरिक संकल्प लेता हैं कि वो लोगों के बीच दुर्घटनाओं और आपदाओं की स्थिति के प्रति जागरूकता और रोकथाम के लिए उनका ध्यान आकर्षित करेगा। इसी वजह से ये दिन प्रत्येक देशवासियों के लिए खास है।

ये भी पढ़ें- ऑफिस में क्यों जरूरी है मनोवैज्ञानिक? जानें 3 बड़े कारण

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो