whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

24 घंटे में कांग्रेस ने बदला उम्मीदवार, बीजेपी ने मौजूदा सांसद का काटा टिकट, इस लोकसभा सीट पर कांटे की टक्कर

Lok Sabha Election 2024: जयपुर शहर लोकसभा सीट साल 1952 में अस्तित्व में आई थी। साल 2019 के लोकसभा चुनावों में इस सीट पर भाजपा के रामचरण बोहरा ने कांग्रेस की ज्योति खंडेलवाल को कुल 430626 मतों से हराया था। बता दें इस सीट पर 14 फीसदी मुस्लिम वोट बैंक है।
07:50 PM Mar 28, 2024 IST | Amit Kasana
24 घंटे में कांग्रेस ने बदला उम्मीदवार  बीजेपी ने मौजूदा सांसद का काटा टिकट  इस लोकसभा सीट पर कांटे की टक्कर

Lok sabha election 2024 (के.जे श्रीवत्सन): राजस्थान में लोकसभा के पहले चरण का चुनावी रण सज चुका है। जयपुर शहर राजस्थान की हॉट संसदीय सीट में से एक है। इस बार यहां से बीजेपी ने अपने सिटिंग सांसद रामचरण बोहरा का टिकट काटकर मंजू शर्मा को अपना उम्मीदवार बनाया है। वहीं, कांग्रेस ने पहले तो यहां सुनील शर्मा को टिकट दिया, फिर ऐलान के 24 घंटे बाद ही शर्मा को हटाकर पूर्व मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास को अपना उम्मीदवार बनाया।

यह है सीट का समीकरण

यह सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है। अस्तित्व में आने के बाद अब तक इस सीट पर 17 बार लोकसभा चुनाव हुए हैं, जिसमें केवल 3 बार ही कांग्रेस इस सीट से चुनाव जीती है। राजनीतिक जानकारों के अनुसार इस बार गुलाबी शहर जयपुर की इस लोकसभा सीट पर रोमांचक मुकाबला होने की उम्मीद है। साल 2019 में भाजपा के रामचरण बोहरा ने कांग्रेस की ज्योति खंडेलवाल को 430626 मतों से हराया था।

प्रत्याशियों के बारे में जानें

बीजेपी ने यहां से पहली बार ब्राह्मण महिला प्रत्याशी को चुनाव मैदान में उतारा है। कांग्रेस राजपूत वोट बैंक को अपने पक्ष में करने में जुटी है। बीजेपी और कांग्रेस दोनों प्रत्याशियों ने नामांकन कर दिया है। बता दें मंजू शर्मा के पिता भवरलाल शर्मा जनसंघ के बड़े नेता रहे हैं। वह 5 बार हवामहल से विधायक रहे थे। महिला प्रत्याशी को टिकट देकर बीजेपी ने इस सीट से क्षेत्रीय समीकरणों के साथ आधी आबादी को साधने की कोशिश की है।

14 फीसदी मुस्लिम वोट बैंक

जयपुर शहर लोकसभा सीट साल 1952 में अस्तित्व में आई थी। इस सीट पर राजपूत, वैश्य और ब्राह्मण आबादी है। सीट पर 14 फीसदी मुस्लिम वोट बैंक है। कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास 2004 में भी इस सीट से चुनाव लड़े थे। उस समय उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था। बता दें खाचरियावास राजस्थान के दिग्गज नेता भैरोसिंह शेखावत के भतीजे हैं और राजपूत वोट बैंक पर अपना दबदबा रखते हैं।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो