whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

Rajasthan BJP में परिवारवाद का सबूत, पिता कानून मंत्री तो बेटा एडिशनल एडवोकेट जनरल

Rajasthan AAG Posting : राजस्थान में पिता कानून मंत्री तो बेटा अतिरिक्त महाधिवक्ता बन गया। परिवारवाद पर कांग्रेस को घेरने वाली अब भाजपा खुद फंसती नजर आ रही है। इसे लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर हमला बोला है। आइए जानते हैं कि एएजी बनने पर क्या सुविधाएं मिलती हैं।
06:27 PM Mar 14, 2024 IST | Deepak Pandey
rajasthan bjp में परिवारवाद का सबूत  पिता कानून मंत्री तो बेटा एडिशनल एडवोकेट जनरल
कानून मंत्री के बेटे बने अतिरिक्त महाधिवक्ता।

Rajasthan AAG Posting : भारतीय जनता पार्टी (BJP) खुद को भले ही परिवारवाद से दूर बताती है, लेकिन भजनलाल सरकार के एक फैसले ने पार्टी के दावों को फेल साबित कर दिया। राजस्थान के कानून मंत्री जोगाराम पटेल के बेटे मनीष पटेल को अतिरिक्त महाधिवक्ता (AAG) बना दिया गया। उनकी नियुक्त राजस्थान हाई कोर्ट की मुख्य पीठ जोधपुर में हुई। हालांकि कानून जोगाराम पटेल खुद भी वकील हैं। मनीष पटेल के एएजी बनाने पर कांग्रेस ने भाजपा पर निशाना साधा है।

AAG को क्या मिलती हैं सुविधाएं

राजस्थान में भाजपा से जुड़े कई वरिष्ठ अधिवक्ता इस पद के दावेदार थे, लेकिन सबसे कम अनुभवी मनीष पटेल को यह जिम्मेदारी सौंप दी गई। राजस्थान सरकार के प्रावधानों के अनुसार, नए केस पर पैरवी करने के लिए एडिशनल एडवोकेट जनरल को ड्राफ्टिंग के 5 हजार रुपए दिए जाते हैं। साथ ही राज्य सरकार हाई कोर्ट में चैंबर, स्टाफ और स्टेशनरी का पूरा खर्च उठाती है।

यह भी पढे़ं : राजस्थान क्रिकेट: जिसकी सरकार उसी की RCA में सल्तनत

सवा लाख रुपये मिलते हैं वेतन

इस तमाम सुविधाओं के साथ हर महीने करीब 7 लाख रुपए की आमदनी तय होती है। साथ ही AAG को वेतन के रूप में सवा लाख रुपए मिलते हैं। वहीं, 5 हजार रुपए प्रति केस पैरवी के भी मिलते हैं। एएजी को एक दिन में अधिकतम 5 केसों में पैरवी का भुगतान किया जा सकता है। सरकार से जुड़े जितने मामले हैं, अगर उनमें से सिर्फ 5 मामलों में भी वे अदालत में पेश हो जाए तो वेतन के अलावा प्रतिदिन का 25 हजार रुपए मिलना तय है।

यह भी पढे़ं  :International Women Day: फ्री बस यात्रा, पुलिस भर्ती में बढ़ा आरक्षण, सरकार ने महिलाओं को दी बड़ी सौगात

कांग्रेस ने भाजपा का कसा तंज

राजस्थान सरकार के कानून विभाग ने सुप्रीम कोर्ट और राजस्थान हाई कोर्ट में 6 एडिशनल एडवोकेट जनरल नियुक्ति किया। मंगलवार को देर रात आए आदेश में मनीष पटेल का भी नाम था। ऐसे में परिवारवाद पर कांग्रेस को घेरने वाली बीजेपी अब खुद ही विपक्ष के निशाने पर आ गई है। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने इस फैसले पर तंज कसते हुए कहा कि यही है भाजपा की कथनी और करनी की हकीकत। कार्यकर्ताओं के साथ छल किया जा रहा है।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो