whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

कौन हैं रविंद्र सिंह भाटी? बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा सीट से निर्दलीय ठोकी ताल, BJP की बढ़ी टेंशन

Lok Sabha Election 2024: राजनीतिक गलियारों में रविंद्र सिंह भाटी को बीजेपी से बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा सीट से टिकट मिलने की अटकलें तेज थी। बीजेपी ने उन्हें टिकट न देकर यहां से केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी पर फिर से अपना भरोसा जताया है। 2019 में कैलाश चौधरी ने बीजेपी के टिकट से चुनाव लड़ते हुए 323808 मतों से जीत दर्ज की थी।
07:37 PM Mar 26, 2024 IST | Amit Kasana
कौन हैं रविंद्र सिंह भाटी  बाड़मेर जैसलमेर लोकसभा सीट से निर्दलीय ठोकी ताल  bjp की बढ़ी टेंशन
Ravindra Singh Bhati

Lok Sabha Election 2024 (थानाराम माली): बाड़मेर जैसलमेर बालोतरा लोकसभा सीट से रविंद्र सिंह भाटी ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। वह 4 अप्रैल को अपना नामांकन दाखिल करेंगे। बता दें भाटी लोकसभा के अंतर्गत आने वाली शिव विधानसभा सीट से विधायक हैं। मंगलवार को रविंद्र सिंह भाटी ने सर्व समाज की बैठक के बाद अपने (निर्दलीय)  चुनाव मैदान में उतारने का ऐलान किया है।

10 दिन के लिए बीजेपी में रहे

जानकारी के अनुसार रविंद्र सिंह भाटी ने जय नारायण व्यास यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की है। 2019 में वह छात्र संघ अध्यक्ष पद पर निर्दलीय चुनाव लड़े और जीते थे। इसके बाद वे लगातार बाड़मेर-जैसलमेर की राजनीति में सक्रिय रहे हैं। राजस्थान में 2023 विधानसभा चुनाव से पहले वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने भाजपा से शिव विधानसभा से टिकट की मांग की थी लेकिन बीजेपी ने उन्हें टिकट नहीं दिया। जिसके बाद महज 10 दिनों में उन्होंने बीजेपी छोड़ दी और निर्दलीय चुनाव लड़े और जीते थे। ऐसे में इस बार अगर वह निर्दलीय चुनाव लड़ते हैं तो बीजेपी की टेंशन बढ़ सकती है।

बीजेपी नेताओं के साथ बैठक की

बीते दिनों तक राजनीतिक गलियारों में बीजेपी द्वारा उन्हें बाड़मेर जैसलमेर बालोतरा सीट से अपना लोकसभा उम्मीदवार बनाने की अटकलें तेज थी। लेकिन बीजेपी ने उन्हें टिकट न देकर सांसद और केंद्र मंत्री कैलाश चौधरी को अपना उम्मीदवार बनाया है। मंगलवार को रविंद्र सिंह भाटी ने देव दर्शन यात्रा शुरू की। बड़ी संख्या में उनके समर्थक इस यात्रा में पहुंचे। इससे पहले राजस्थान के सीएम भजनलाल शर्मा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सीपी जोशी समेत वरिष्ठ बीजेपी के नेताओं के साथ उन्होंने बैठक की। बैठक के बाद उन्होंने निर्दलीय लोकसभा चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है।

ये भी पढ़ें: झुंझुनूं लोकसभा सीट:- BJP ने किया नया ‘प्रयोग’, कांग्रेस ने खेला ‘ओला’ दांव, इस सीट पर ‘जाट’ वोट होंगे निर्णायक

323808 मतों से हराया था

आंकड़ों पर गौर करें तो 2019 में बाड़मेर जैसलमेर लोकसभा सीट पर बीजेपी के कैलाश चौधरी ने कांग्रेस के मानवेंद्र सिंह को कुल 323808 मतों से हराया था। कैलाश चौधरी को कुल 846526 वोट मिले थे।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो