whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

Kalashtami 2024: कालाष्टमी के दिन करें ये चमत्कारी उपाय, काल भैरव होंगे प्रसन्न

Kalashtami 2024: वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कालाष्टमी के दिन कुछ ऐसे भी उपाय होते हैं जिन्हें करने से बाबा भैरव प्रसन्न होते हैं। तो आज इस खबर में जानेंगे कि काल भैरव को प्रसन्न करने के लिए कौन-कौन उपाय करने चाहिए।
08:31 AM Mar 31, 2024 IST | Raghvendra Tiwari
kalashtami 2024  कालाष्टमी के दिन करें ये चमत्कारी उपाय  काल भैरव होंगे प्रसन्न

Kalashtami April 2024: हिंदू धर्म में कालाष्टमी का पर्व बहुत ही शुभ माना गया है। मान्यता है कि कालाष्टमी का पर्व भगवान काल भैरव को समर्पित है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, काल भैरव को भगवान शिव का उग्र स्वरूप माना गया है। वैदिक पंचांग के अनुसार, कालाष्टमी का पर्व प्रत्येक माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। इस समय चैत्र का महीना चल रहा है और चैत्र माह में कालाष्टमी का व्रत कल यानी 1 अप्रैल 2024 को है। इस दिन काल भैरव बाबा की पूजा विधि-विधान से की जाती है। मान्यता है कि जो लोग इस दिन उपवास रखते हैं उनके जीवन के सभी कष्ट समाप्त हो जाते हैं। तो आज इस खबर में जानेंगे कालाष्टमी के दिन कौन-कौन से उपाय करने चाहिए जिससे काल भैरव प्रसन्न हो जाएं।

जलेबी का भोग लगाएं

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कालाष्टमी के दिन सुबह-सुबह उठकर स्नान करें। उसके बाद काल भैरव बाबा की विधि-विधान से पूजा-अर्चना करें। उसके बाद सरसों के तेल का चौमुखी दीपक जलाएं। साथ ही बाबा भैरव को जलेबी का भोग लगाएं। मान्यता है कि काल भैरव पर जलेबी का भोग लगाने से जीवन की सारी समस्याएं दूर हो जाती हैं। साथ ही सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है।

दीपक जलाएं

कालाष्टमी के दिन मिट्टी के दीपक में सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए। मान्यता है कि दीपक जलाने के बाद भैरव बाबा की विधि-विधान से पूजा करें। मान्यता है कि दीपक जलाने से आर्थिक तंगी से मुक्ति मिलती है। साथ ही बाबा भैरव प्रसन्न भी होते हैं।

भैरव मंत्र का करें जाप

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कालाष्टमी के दिन भगवान भैरव की कृपा पाने के लिए 'ॐ ह्रीं बं बटुकाय आपदुद्धारणाय कुरूकुरू बटुकाय ह्रीं आं स्वाहा' इस मंत्र का जाप करना चाहिए। मान्यता है कि इन मंत्रों का जाप करने से सारी समस्याएं दूर हो जाती हैं।

यह भी पढ़ें- अप्रैल के मध्य तक सूर्य के साथ रहेंगे शुक्र देव, तब तक ये 3 राशियों की रहेगी मौज

यह भी पढ़ें- कब है सोमवती अमावस्या, जानें स्नान करने की शुभ तिथि, मुहूर्त और पूजा विधि

यह भी पढ़ें-  सवा 4 घंटे तक रहेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, इन 5 राशि के लोगों के लिए बेहद शुभ

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो