whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

गलती से भी न छुएं इन 5 लोगों के पैर, प्रेमानंद महाराज ने बताया क्यों?

Premanand Ji Maharaj: अक्सर आपने देखा होगा कि हिंदू धर्म के लोग अपने से बड़े लोगों के पैर छूते हैं। दरअसल हिंदू धर्म में अपने से बड़ों के पैर छूना एक अच्छा संस्कार माना जाता है, लेकिन क्या आपको ये पता है कि किन-किन परिस्थितियों में पैर नहीं छूने चाहिए। अगर नहीं, तो आइए जानते हैं।
03:43 PM Apr 04, 2024 IST | Nidhi Jain
गलती से भी न छुएं इन 5 लोगों के पैर  प्रेमानंद महाराज ने बताया क्यों

Premanand Ji Maharaj: अगर आप सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं तो आपने प्रेमानंद महाराज के वीडियो तो जरूर देखे होंगे। सोशल मीडिया पर आए दिन महाराज जी के प्रवचन के वीडियो वायरल होते रहते हैं। प्रेमानंद महाराज एक कृष्ण मार्गी संत हैं, जिनका वृन्दावन में आश्रम भी है।

प्रवचन के दौरान महाराज जी हिंदू धर्म से जुड़ी कई महत्वपूर्ण बातों के बारे में विस्तार से बताते हैं। उन्होंने अपने प्रवचन के दौरान इस बारे में भी बताया है कि हिंदू धर्म के लोगों को किन-किन परिस्थितियों में अपने से बड़े लोगों के पैर नहीं छूने चाहिए। आइए जानते हैं व्यक्ति को किन पांच लोगों के पैर नहीं छूने चाहिए।

ये भी पढ़ें- पति को कंगाल बना सकती हैं उसकी ये 5 आदतें, प्रेमानंद महाराज ने कहा तुरंत छोड़ें

ससुर

प्रेमानंद महाराज बताते हैं कि किसी भी दामाद को अपने ससुर के पैर नहीं छूने चाहिए। दरअसल जब भगवान शिव ने अपने ससुर का शीश काटा था, तभी से इस नियम का लोग पालन करते आ रहे हैं।

मामा

प्रेमानंद महाराज के अनुसार, भांजे को कभी भी अपने मामा के पैर नहीं छूने चाहिए। दरअसल जब भगवान कृष्ण ने कंस का उद्धार किया था, तभी से लोग इस नियम को अपना रहे हैं।

कुवारी कन्याओं

कुवारी कन्याओं को कभी भी अपने से बड़े लोगों के पैर नहीं छूने चाहिए। प्रेमानंद महाराज बताते हैं कि हिंदू धर्म में कन्याओं को देवी का रूप माना जाता है। अगर आप उनसे अपने पैर स्पर्श कराते हैं, तो इससे आपको पाप लग सकता है।

मृत व्यक्ति

प्रेमानंद महाराज बताते हैं कि कभी भी किसी को सोए हुए या लेटे हुए व्यक्ति के पैर नहीं छूने चाहिए, क्योंकि हिन्दू धार्मिक मान्यता के अनुसार केवल लेटे हुए मृत व्यक्ति के ही पैर छुएं जाते हैं। ऐसे में आपकी आयु कम हो सकती है।

मंदिर में

प्रेमानंद महाराज के अनुसार, मंदिर में कभी भी किसी को किसी के पैर नही छूने चाहिए। दरअसल मंदिर को पवित्र स्थान माना जाता है। अगर वहां पर भगवान के अलावा कोई किसी के पैर छूता है तो इससे भगवान का अपमान होता है।

यह भी पढ़ें- जेब में बचते नहीं पैसे तो जीवन सुखी हो कैसे? धीरेंद्र शास्त्री ने बताए धन टिकने के उपाय

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी धार्मिक मान्यता पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो