whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

चार धाम यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन क्यों जरूरी? 3 धाम के कल और एक के 12 को खुलेंगे कपाट

Char Dham Yatra Registration: चार धाम यात्रा या फिर केदारनाथ जाने का प्लान कर रहे हैं तो आपको रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है। ऐसा नहीं करने पर आपको बीच में ही रोका जा सकता है। जानिए आखिर क्यों जरूरी है ये प्रोसेस।
08:18 PM May 09, 2024 IST | Deeksha Priyadarshi
चार धाम यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन क्यों जरूरी  3 धाम के कल और एक के 12 को खुलेंगे कपाट
kedarnath

Char Dham Yatra Registration: चार धाम यात्रा के नाम के लिए बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने जा रहे हैं। अक्षय तृतीया के अवसर पर  गंगोत्री, यमुनोत्री और केदारनाथ के कपाट खुलेंगे, जबकि 12 मई को बद्रीनाथ के कपाट खुलेंगे। इसके मद्देनजर लोगों ने अपनी यात्रा प्लान करना शुरू कर दिया है। कई लोगों ने इसके लिए रजिस्ट्रेशन करवा लिया है, तो वही कई लोग कई लोग रजिस्ट्रेशन करवाने की कोशिश में जुटे हैं। अगर आप उनमें से हैं, जो बिना रजिस्ट्रेशन के ही चार धाम या केदारनाथ की यात्रा करने का प्लान कर रहे हैं तो परेशान हो सकते हैं।

स्लिप देखकर ही आगे जाने दिया जाता है

उत्तराखंड में बसे केदारनाथ मंदिर के कपाट साल में 6 महीने तक बंद रहते हैं। केदारनाथ देश के 12 ज्‍योर्तिर्लिंगों में से एक है। ऐसे में केदारनाथ के कपाट खुलते ही लोग रजिस्ट्रेशन ना होने पर भी यात्रा पर चल देते हैं। ऐसे में आपके लिए जानना जरूरी है कि ऋषिकेश से आगे जाने पर उत्तराखंड पुलिस के कई चेक पोस्ट होते हैं, जहां आपसे रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी ली जाती हैं। इसके अलावा गौरीकुंड वो जगह है, जहां से पैदल यात्रा शुरू हो जाती है। यहां पर रजिस्ट्रेशन स्लिप दिखाने के बाद ही आगे जाने दिया जाता है।

क्यों जरूरी है रजिस्ट्रेशन

चार धाम या केदारनाथ यात्रा पर जाने से पहले ये जरूर जान लें कि  रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया लोगों की सेफ्टी के लिए ही है। इसके जरिए डिटेल्स सरकार के पास फीड हो जाते हैं। इसे जरूरत पड़ने पर लोगों को मदद मिल सके।

ऐसे करवाएं चार धाम के लिए रजिस्ट्रेशन

चारधाम यात्रा के लिए registrationandtouristcare.uk.gov.in के साथ-साथ  touristcareuttarakhand ऐप पर लॉगइन कर के रजिस्टर कर सकते हैं। इसके अलावा टोल फ्री नंबर 0135 1364 और वाट्सऐप नंबर  91-8394833833 के जरिए भी रजिस्टर कर सकते हैं। वही 8 मई से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी शुरू हो गई है। आप अगर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं कर पाए हैं तो वह हरिद्वार और ऋषिकेश पहुंचकर ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो