whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

होली के दिन नमो भारत ट्रेन सेवाएं रहेंगी बहाल, इस समय तक कर पाएंगे यात्रा

High Speed Rail Service Holi: नमो भारत ट्रेन रखा गया था और गत दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके प्रथम चरण को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। नमो भारत ट्रेन सेवाएं वर्तमान में 34 किमी के सेक्शन में संचालित की जा रही हैं।
03:40 PM Mar 22, 2024 IST | Avinash Tiwari
होली के दिन नमो भारत ट्रेन सेवाएं रहेंगी बहाल  इस समय तक कर पाएंगे यात्रा
एनसीआरटीसी की हाईस्पीड रेल।

High Speed Rail Service Holi: आरआरटीसी की हाई स्पीड रेल सेवा होली के दिन भी जारी रहेगी। एनसीआरटीसी की ओर से एक बयान जारी कर कहा गया है कि होली पर्व पर लोगों के आवागमन को देखते हुए सेवाएं बहाल रखी जाएंगी। इन ट्रेनों का नाम नमो भारत ट्रेन रखा गया था और गत दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके प्रथम चरण को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। नमो भारत ट्रेन सेवाएं वर्तमान में 34 किमी के सेक्शन में संचालित की जा रही हैं। इस सेक्शन में साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई, दुहाई डिपो, मुराद नगर, मोदी नगर साउथ और मोदी नगर नॉर्थ स्टेशनों पर 15 मिनट की फ्रिक्वेन्सी पर ट्रेनें यात्रियों के लिए संचालित हो रही हैं।

होली के दिन शाम 4 बजे से रात्रि 8 बजे तक होंगी उपलब्ध

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के संचालित सेक्शन में नमो भारत ट्रेन सेवाएं होली के दिन 25 मार्च सोमवार को शाम 4 बजे से रात्रि 8 बजे तक उपलब्ध रहेंगी। दोनों दिशाओं में पहली ट्रेन शाम चार बजे परिचालन शुरू करेगी और आखिरी ट्रेन टर्मिनल स्टेशनों यानी साहिबाबाद और मोदीनगर नॉर्थ से रात आठ बजे प्रस्थान करेगी।

आरआरटीएस से आच्छादित होगा एनसीआर

प्रदूषण से छुटकारा दिलाने और सुगम आवागमन के लिए एनसीआरटीसी पूरे एनसीआर में रैपिड रेलों का जाल बिछा रहा है। यह ट्रेनें उच्च सुविधाओं से युक्त है और इनकी सबसे खास बात यह है कि इनमें यात्रा करने के दौरान कहीं भी ट्रेन बदलने की जरुरत नहीं पड़ती। केंद्र और राज्य सरकारों की भागीदारी से इस योजना का पहला चरण सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है।

यूपी, दिल्ली और राजस्थान का है 12 फीसद योगदान 

इन ट्रेनों का संचालन राजधानी दिल्ली से जुडे़ राज्यों को एक ही परिवहन व्यवस्था से जोड़ने के लिए किया गया है। इसमें दिल्ली, यूपी और राजस्थान राज्यों का 12-12 फीसद योगदान है, बाकी योगदान केंद्र सरकार की ओर से किया गया है। एनसीआरटीसी का दावा है कि ट्रेन की सीट और परिवहन सुविधाओं को बिलकुल हवाई जहाज की सीटों जैसा ही आराम दायक बनाया गया है। इन ट्रेनों के संचालन से जहां आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा वहीं एक जगह से दूसरे जगह यात्रा की समय सीमा अत्यंत कम हो जाएगी।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो