whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

ढाई फीट की दुल्हन और पांच फीट का दूल्हा, विरोध के बावजूद रब ने बनाई अनोखी जोड़ी

Deoria 2.5 feet bride and 5 feet groom : देवरिया के ढाई फीट की दुल्हन और 5 फीट का दूल्हा चर्चाओं में है। दोनों ने तमाम मुश्किलों के बाद भी शादी कर ली है। दोनों को सोशल मीडिया के जरिए प्यार हुआ था और अब यह जोड़ी सरकार से मदद मांग रही है।
08:39 PM Mar 29, 2024 IST | Avinash Tiwari
ढाई फीट की दुल्हन और पांच फीट का दूल्हा  विरोध के बावजूद रब ने बनाई अनोखी जोड़ी

Deoria 2.5 feet bride and 5 feet groom : कहते हैं कि जोड़ियां भगवान ऊपर से ही बनाकर भेजता है। ऐसी कई जोड़ियां सामने आ चुकी हैं जिसे देखकर लोग हैरानी जता चुके हैं। अब एक ढाई फीट की दुल्हन और पांच फीट के दूल्हे की खूब चर्चा हो रही है। यह जोड़ी उत्तर प्रदेश के देवरिया की रहने वाली है। दोनों में प्रेम हुआ और दोनों ने तमाम विरोध के बाद भी शादी कर ली है। हालांकि इनकी जिंदगी इतनी भी आसान नहीं है। दुल्हन एक लाइलाज बीमारी से ग्रसित है।

ढाई फीट की दुल्हन और पांच फीट का दूल्हा

दुल्हन एक लाइलाज बीमारी से जूझ रही है। वह अपना काम भी खुद से नहीं कर पाती है। यहां तक वाशरूम जाने में भी पति की मदद की जरूर पड़ती है। हालांकि दोनों का प्यार इस कदर परवान चढ़ा कि मुश्किलों के बाद भी दोनों ने साथ रहने की कसमें खाई और शादी कर ली। दुल्हन का नाम सबल परवीन है और दूल्हे का नाम नौशाद अली।

मिली जानकारी के मुताबिक, नौशाद दुबई में रहकर नौकरी करता था और सोशल मीडिया के जरिए उसका परिचय सबल परवीन से हुआ। धीरे-धीरे दोनों के बीच प्यार हुआ और दोनों साथ में रहने की कसमें खाने लगे। नौशाद एकदम स्वस्थ है जबकि सबल एक लाइलाज बीमारी से ग्रसित है। दोनों की शादी की बात सुनकर परिवार वाले तैयार नहीं हुए।

विरोध के बाद भी कर ली शादी

हालांकि दोनों ने फैसला कर लिया था कि शादी एक दूसरे से ही करेंगे। दुबई से जब नौशाद वापस आया तो उसने सिलीगुड़ी में जाकर परिजनों की उपस्थिति में सबल परवीन से शादी कर ली। पिछले दिनों दोनों अपने पैतृक गांव देविरया आए तो दोनों की खूब चर्चाएं होने लगी। अब यह जोड़ी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बन गई है।

यह भी पढ़ें : 3 फीट की दुल्हन, 5 फीट का दूल्हा, शादी का वीडियो देखकर लोग बोले रब ने बनाई अनोखी जोड़ी

सबल परवीन पढ़ाई करना चाहती हैं और PCS अधिकारी बनना चाहती हैं। सबल का कहना है कि आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है लेकिन फिर भी पढ़ाई जारी रखने की कोशिश है। दो बार वह परीक्षा में भी बैठ चुकी हैं लेकिन कुछ नंबरों की कमी की वजह से उनका सलेक्शन नहीं हो पाया। अगर सरकार मदद करे तो उनकी पढ़ाई जारी रहेगी और PCS अधिकारी बनने का सपना भी पूरा हो जाएगा।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो