whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

आग उगल रही गर्मी में क्‍या कार की टंकी फुल कराना है खतरनाक? वायरल मैसेज पर Indian Oil ने बताई सच्‍चाई

Fact Check Indian Oil Message: सोशल मीडिया पर पिछले कई दिनों से इंडियन ऑयल के नाम पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। इस मैसेज में दावा किया जा रहा है कि तापमान बढ़ने की वजह से फ्यूल टैंक में विस्फोट हो सकता है। आइए जानते हैं यह मैसेज सच है या नहीं?
11:58 AM May 20, 2024 IST | Nidhi Jain
आग उगल रही गर्मी में क्‍या कार की टंकी फुल कराना है खतरनाक  वायरल मैसेज पर indian oil ने बताई सच्‍चाई

Fact Check Indian Oil Viral Message: सोशल मीडिया पर आए दिन फेक मैसेज वायरल होते रहते हैं। इस समय सोशल मीडिया पर इंडियन ऑयल की चेतावनी से जुड़ी एक फोटो वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया गया है कि तामपान बढ़ने की वजह से फ्यूल टैंक में विस्फोट हो सकता है। इसलिए दिन में एक बार टैंक को खोलकर छोड़ दें। आज हम आपको इस वायरल मैसेज की सच्चाई के बारे में बताने जा रहे हैं। क्या सच में गर्मियों में फ्यूल टैंक विस्फोट हो सकता है? आइए जानते हैं इस वायरल मैसेज की सच्चाई।

ये भी पढ़ें- महिला मजिस्ट्रेट की कार को मारी टक्कर फिर पुलिसकर्मियों को पीटा, आधी रात को सड़क पर हुआ बवाल

वायरल मैसेज में क्या लिखा है?

इंडियन ऑयल के नाम पर इस समय जो मैसेज वायरल हो रहा है। उसमें चेतावनी दी गई है कि, 'आने वाले दिनों में तापमान बढ़ेगा। इसलिए अपनी गाड़ी में लिमिट से ज्यादा पेट्रोल न भरवाएं। इससे फ्यूल टैंक में विस्फोट हो सकता है।'

इसकी के आगे मैसेज में लिखा गया है कि, 'कृपया अपने वाहन में पेट्रोल टैंक आधा ही भरें और हवा के लिए जगह रखें। इस हफ्ते 5 विस्फोट दुर्घटनाएं हो चुकी हैं, क्योंकि उन्होंने लिमिट से ज्यादा पेट्रोल भरवाया था। इसलिए दिन में एक बार पेट्रोल टैंक खोलें, जिससे टैंक में मौजूद गैस बाहर आ सके। नोट: इस संदेश को अपने परिवार के सदस्यों और बाकी सभी लोगों को भेजें, ताकि लोग इस दुर्घटना से बच सकें। धन्यवाद।'

Indian Oil

इंडियन ऑयल ने दिया स्पष्टीकरण

इंडियन ऑयल ने अब इस वायरल मैसेज को लेकर अपना स्पष्टीकरण जारी किया है। इंडियन ऑयल की तरफ से कहा गया है कि, 'पिछले कई दिनों से व्हाट्सएप पर जो मैसेज वायरल हो रहा है। वो फेक है। ऑटोमोबाइल निर्माता सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर ही वाहन को डिजाइन करते हैं। किसी भी वाहन में पेट्रोल या डीजल के टैंक भरने की कोई लिमिट नहीं है। इसलिए आप सर्दियों या गर्मियों की परवाह किए बिना, निर्माता द्वारा सेट की गई अधिकतम सीमा तक वाहनों में पेट्रोल या डीजल भरवा सकते हैं।'

पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन पुणे के अध्यक्ष ध्रुव रुपारेल ने कहा, 'यह संदेश फर्जी है। गैस निकलने के लिए टैंक में हमेशा जगह होती है। इसलिए तापमान की वजह से पेट्रोल या डीजल कभी भी विस्फोट का कारण नहीं बन सकता है। जब तक कि यह आग के संपर्क में न आ जाए। चालकों को ये समझना होगा कि हर एक वाहन के टैंक को सुरक्षा सुविधाओं के साथ डिजाइन किया जाता है।' ध्रुव रुपारेल ने आगे कहा कि, हम जनता से अपील करते हैं कि वो शांत रहें और ऐसी अफवाहों पर ध्यान न दें।'

यह भी पढ़ें : भारी पड़ा रील का चस्का, नदी में कूदने के बाद लड़के की मौत; बाहर निकाली गई लाश

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो