whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

माफिया अतीक अहमद के फाइनेंसर नफीस बिरयानी को जेल में आया Heart Attack, एक हफ्ते बाद फिर पहुंचा अस्पताल

Nafees Biryani Suffers Heart Attack in Naini Central Jail : फरवरी 2023 के उमेश पाल शूटआउट में नाम आने के बाद मुठभेड़ में गिरफ्तार माफिया अतीक अहमद के करीबी मोहम्मद नफीस बिरयानी को दिल का दौरा पड़ने की खबर है।
09:56 PM Dec 17, 2023 IST | Balraj Singh
माफिया अतीक अहमद के फाइनेंसर नफीस बिरयानी को जेल में आया heart attack  एक हफ्ते बाद फिर पहुंचा अस्पताल
माफिया अतीक अहमद और उसके फाइनेंसर के तौर पर जाना जाता मोहम्मद नफीस बिरयानी।

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में नैनी जेल में बंद माफिया अतीक अहमद के फाइनेंसर नफीस बिरयानी को रविवार को दिल का दौरा पड़ गया। इसके बाद नफीस बिरयानी को गंभीर हालत में ICU में भर्ती कराया गया है। महीनेभर पहले गिरफ्तार किए गए इस आरोपी को हाल ही में 9 दिसंबर को अस्पताल से जेल में शिफ्ट किया गया था। अब हफ्तेभर के बाद ही उसे फिर से अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत आ गई। उधर, इससे पहले पूछताछ में खुलासा हुआ है कि हर महीने 2 करोड़ के करीब कमाने वाला नफीस बिरयानी लगभग चौथा हिस्सा अतीक अहमद की बीवी शाइस्ता परवीन को पहुंचाता था।

मोहम्मद नफीस-पान की दुकान से बिरयानी ब्रांड तक

बता दें कि मोहम्मद नफीस नामक यह वही शख्स है, जिस पर एनकाउंटर में मारे जाने से पहले जेल में बंद माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ के परिवार का पूरा मैनेजमेंट देखता था। पहले गुलाब बाड़ी कॉलोनी के रहता था तो हालिया पता जीटीबी नगर करेली का है। नफीस बिरयानी का नाम ऐसे ही नहीं पड़ गया। एक वक्त था, जब वह सिविल लाइन में पान की दुकान चलाता था। बाद में अतीक अहमद के भाई अशरफ के संपर्क में आने के बाद उसने बिरयानी की शॉप खोली, जो धीरे-धीरे ब्रांड बन गई। यहीं से उसके नाम के साथ बिरयानी शब्द भी जुड़ गया। बड़ी बात यह भी है कि लगभग 2 करोड़ रुपए हर महीने कमाने वाला नफीस इसमें से 25 प्रतिशत यानि 50 लाख रुपए के करीब की आमदन अतीक अहमद के परिवार को भेजता था।

यह भी पढ़ें: लखनऊ में कश्मीरी युवकों से मारपीट; नगर निगम की टीम ने ड्राईफ्रूट्स छीनकर सड़क पर फेंके

जहां तक नफीस बिरयानी के आपराधिक रिकॉर्ड की बात है, इस शख्स का नाम इसी साल 24 फरवरी उमेश पाल और दो सरकारी गनर के हत्याकांड में आया। इस वारदात में इस्तेमाल की गई क्रेटा कार नफीस की ही थी। इसके अलावा भी उसके खिलाफ तीन और केस दर्ज हैं। उमेश पाल शूटआउट को लेकर धूमनगंज थाने में दर्ज एफआईआर की जांच में जुटी पुलिस की आंखों में नफीस महीनों धूल झोंकता रहा। यहां तक कि अगस्त में दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में लोकेशन मिलने के बाद जब तक पुलिस पहुंची वह फिर भागने में कामयाब रहा।

Parliament Security Breach के आरोपी सागर शर्मा ने जूते में छिपाया था स्मोक बम; पढ़ें घर पर छानबीन के बाद दिल्ली पुलिस का खुलासा

22 नवंबर को मुठभेड़ के बाद किया गया था गिरफ्तार 

18 नवंबर 2023 को प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर रमित शर्मा ने नफीस के सिर पर 50 हजार के इनाम की घोषणा कर दी तो 4 दिन बाद ही बीती 22 नवंबर की देर शाम नवाबगंज थाना क्षेत्र के आनापुर इलाके में मुठभेड़ के बाद पैर में गोली लग जाने से नफीस बिरयानी घायल हो गया था। घायल हालत में उसे हिरासत में लेकर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। अस्पताल से नफीस बिरयानी को 9 दिसंबर को ही नैनी सेंट्रल जेल में शिफ्ट किया गया था। अब रविवार को उसे उस वक्त फिर से अस्पताल ले जाना पड़ा, जब उसे दिल का दौरा पड़ गया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक मोहम्मद नफीस बिरयानी को फिलहाल मेडिकल कार्डियोलॉजी विभाग के ICU में भर्ती कराया गया है।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो