whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

इजराइल-हमास जंग के बीच भारत क्यों आए अमेरिकी विदेश और रक्षा मंत्री? चीन के मुद्दे पर हुई बात

India-US 2+2 Dialogue Updates: बैठक में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रक्षा हमारे द्विपक्षीय संबंधों का सबसे महत्वपूर्ण स्तंभों में से एक है।
12:42 PM Nov 10, 2023 IST | Bhola Sharma
इजराइल हमास जंग के बीच भारत क्यों आए अमेरिकी विदेश और रक्षा मंत्री  चीन के मुद्दे पर हुई बात
India-US 2+2 Dialogue

India-US 2+2 Dialogue Updates: अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन गुरुवार देर रात नई दिल्ली पहुंचे। ब्लिंकन ने विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की। दोनों देशों के मंत्रियों के बीच बैठक जारी है। इस दौरान गाजा और यूक्रेन के युद्धों पर कोई बात नहीं हुई। पूरी बैठक इंडो-पैसिफिक में सुरक्षा चुनौतियों और चीन को लेकर चिंताओं पर केंद्रित है। इसके अलावा साथ मिलकर डिफेंस सिस्टम बनाने, भारत को फाइटर जेट्स के इंजन, MQ-9 ड्रोन सप्लाई करने पर आम सहमति बनाई जाएगी।

अब भारत और अमेरिका पहले से कहीं अधिक करीब

बैठक में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रक्षा हमारे द्विपक्षीय संबंधों का सबसे महत्वपूर्ण स्तंभों में से एक है। आपकी (एंटनी ब्लिंकन और लॉयड ऑस्टिन) की यात्रा ऐसे समय हो रही है, जब भारत और अमेरिका पहले से कहीं अधिक करीब हैं। दुनिया में बढ़ रही भूराजनैतिक चुनौतियों के बावजूद हमें अपने महत्वपूर्ण और दीर्घकालिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित रखने की आवश्यकता है।

भारत और अमेरिका दुनिया के दो बड़े लोकतांत्रिक देश

रक्षा सचिव लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि भारत और अमेरिका दुनिया के दो बड़े लोकतांत्रिक देश हैं। वैश्विक चुनौतियों के बीच यह और महत्वपूर्ण है कि हम समान लक्ष्य खोजें। बीते सालों में हमने अपनी प्रमुख रक्षा साझेदारी के निर्माण में प्रभावशाली लाभ कमाया है। इससे हमें शांति और स्थिरता के लिए और भी अधिक योगदान देने में मदद मिलेगी।

दोनों देशों के बीच 200 अरब का व्यापार

भारत और अमेरिका के बीच रिश्ते काफी महत्वपूर्ण हैं। दोनों देशों के बीच 200 अरब डॉलर का व्यापार होता है। 27. लाख से अधिक छात्र अमेरिका में पढ़ाई करते हैं। जून में पीएम मोदी ने अमेरिका का दौरा किया था। वे स्टेट विजिट पर थे। उस वक्त भी दोनों देशों के बीच रिश्तों को और मजबूत बनाने के लिए चर्चा हुई थी। सितंबर में राष्ट्रपति जो बाइडेन जी-20 में हिस्सा लेने के लिए आए थे।

यह भी पढ़ेंचील-गिद्धों की मदद से लाशें खोज रहा इजराइल, पंजों पर लगाए GPS ट्रैकर

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो