whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

व्हाट्सऐप ग्रुप से शुरू हुआ 6400 करोड़ की कंपनी का सफर, अंबानी भी हुए इन्वेस्ट करने को मजबूर

Dunzo owner kabir vishwas: कोई नया बिजनेस शुरू करने की सोच रहे हैं तो Dunzo के मालिक कबीर विश्वास की कहानी से इंस्पायर हो सकते हैं। जानिए कैसे कबीर ने महज व्हाट्सऐप के एक ग्रुप से 6400 करोड़ की कंपनी शुरू की।
07:59 PM May 16, 2024 IST | Deeksha Priyadarshi
व्हाट्सऐप ग्रुप से शुरू हुआ 6400 करोड़ की कंपनी का सफर  अंबानी भी हुए इन्वेस्ट करने को मजबूर
dunzo

Dunzo owner kabir vishwas: किसी भी बिजनेस को बड़ा बनाने के लिए एक आइडिया का बहुत बड़ा हाथ होता है। ऐसा ही एक आइडिया की वजह से बिजनेसमैन कबीर विश्वास आज 6400 करोड़ के मालिक बन गए हैं। उन्होंने एक व्हाट्सऐप ग्रुप के सहारे हजारों करोड़ की कंपनी बना दी।

कबीर ने 2 दोस्‍तों के साथ मिलकर इस कंपनी की शुरुआत की। ये कंपनी ग्रोसरी और डेली नीड से जुड़े सामान को लेकर डील करती थी। ये कंपनी सबसे ज्यादा तब चर्चा में आई थी, जब मुकेश अंबानी ने कबीर की कंपनी में 1600 करोड़ रुपए इनवेस्ट किए।

Hike ने खरीदी कबीर की पहली कंपनी

कबीर ने अपने करियर की शुरुआत प्‍लास्टिक फैक्‍ट्री में काम करने से की थी। इसके बाद उन्‍होंने एमबीए करने के बाद एयरटेल के कस्टमर सर्विस के सेल्स डिपार्टमेंट में काम किया। कबीर के पहले स्टार्टअप के तौर पर hopper शुरू किया, जिसे बाद में Hike ने खरीद लिया।

ऐसे हुई Dunzo की शुरुआत

Hopper के बाद कबीर ने व्हाट्सऐप ग्रुप पॉपुलर हुआ। इसके बाद ही कबीर ने इसे एक कंपनी यानी Dunzo के तौर पर तब्दील किया। इसके जरिए लोग ऑर्डर देते थे, जिसके बाद प्रोडक्ट की डिलीवरी की जाती थी। धीरे-धीरे  Dunzo मेट्रो सिटी में काफी पॉपुलर होता गया। इसके बाद रिलायंस ने इसमें करीब 1600 करोड़ रुपये इन्वेस्ट किए, जिसके बाद dunzo 6,400 करोड़ की कंपनी बन गाई।

क्विक डिलीवरी का आइडिया चल गया

साल 2013 में एक फेमस कंपनी  ने डेली नीड की चीजों को डोर टू डोर क्विक डिलीवरी शुरू किया। कबीर ने लोगों की जरूरतों को समझा और पहले व्हाट्सऐप के ग्रुप के जरिए ऑर्डर लेने की शुरुआत की। बाद में व्हाट्सऐप ग्रुप Dunzo में तब्दील हो गया।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो