whatsapp
For the best experience, open
https://mhindi.news24online.com
on your mobile browser.

Fact Check: इजरायल के पीएम का बेटा युद्ध के लिए रवाना, क्या है वायरल फोटो का सच?

Israel PM Benjamin Netanyahu Son in War Viral Photo Fact Check: नेतन्याहू के सबसे छोटे बेटे अवनेर नेतन्याहू ने 2014 में अपनी सैन्य सेवा शुरू की थी।
08:49 PM Oct 11, 2023 IST | Pushpendra Sharma
fact check  इजरायल के पीएम का बेटा युद्ध के लिए रवाना  क्या है वायरल फोटो का सच
Fact Check: Israel PM benjamin netanyahu son leaves for war viral photo Is From 2014

Israel PM Benjamin Netanyahu Son in War Viral Photo Fact Check: इजरायल-हमास युद्ध शुरू हुए 5 दिन बीत चुके हैं, लेकिन शांति की कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही। इस युद्ध में करीब 1200 लोगों की जान चली गई है। जबकि तेज होती जंग में इजरायल ने हमास के कई ठिकाने तबाह कर दिए हैं। इस बीच सोशल मीडिया पर एक फोटो तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू अपने बेटे को विदाई देते नजर आ रहे हैं। इस फोटो को शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री का पुत्र युद्ध में जा रहा है। पुत्र को विदा करते हुए मां-बाप गर्व से भरे हुए हैं...आइए जानते हैं कि आखिर इस वायरल फोटो का सच क्या है।

आखिर इस वायरल तस्वीर का सच क्या है? 

दरअसल, यह तस्वीर हाल के युद्ध के बीच की नहीं, बल्कि 2014 की है। नेतन्याहू के सबसे छोटे बेटे अवनेर नेतन्याहू ने 2014 में अपनी सैन्य सेवा शुरू की थी। 2 दिसंबर 2014 को 'आई स्टैंड इन सपोर्ट ऑफ इजराइल' की एक फेसबुक पोस्ट वायरल इमेज के साथ जानकारी मिली कि अवनेर नेतन्याहू ने इजरायल रक्षा बलों (IDF) में सैन्य सेवा शुरू कर दी है। टाइम्स ऑफ इजरायल की एक पुरानी रिपोर्ट के अनुसार, यह तस्वीर प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्नी सारा की है, जो येरूशलम के अम्मुनिशन हिल पर अपने बेटे अवनेर के साथ नजर आ रहे हैं।

30 दिसंबर 2014 के टाइम्स ऑफ इजरायल के एक अन्य आर्टिकल में बताया गया कि आईडीएफ प्रशिक्षण के दौरान अवनेर नेतन्याहू मामूली रूप से घायल हो गए थे। लेख में 1 दिसंबर 2014 को ली गई एक तस्वीर है, जिसका शीर्षक दिया गया है- "प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्नी सारा, अपने बेटे अवनेर के साथ नजर आ रहे हैं क्योंकि वह अपनी आईडीएफ सेवा शुरू करने की तैयारी कर रहे हैं।" इससे साबित होता है कि 2014 की पुरानी तस्वीर को युद्ध से जोड़कर गलत तरीके से साझा किया गया है।

इसके साथ ही एक पुराने वीडियो को हालिया इजरायल-फिलिस्तीन युद्ध से जोड़कर वायरल किया जा रहा है। मिस्र से पैराट्रूपर्स और सीरिया से रक्का मस्जिदों पर बमबारी के वीडियो को भी फिलिस्तीन युद्ध के रूप में गलत तरीके से साझा किया जा रहा है।

Tags :
tlbr_img1 दुनिया tlbr_img2 ट्रेंडिंग tlbr_img3 मनोरंजन tlbr_img4 वीडियो